रूस को रचनात्मक साझेदार बनाने को सामरिक अवधारणा बदलेगा नाटो : अमेरिका

0
168

वाशिंगटन (एजेंसी)। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा है कि उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) सोमवार की बैठक के बाद सामरिक अवधारणा में बदलाव करेगा तथा इस बदलाव में रूस को ‘रचनात्मक साझेदारी’ के रूप में शामिल कर सकता है। सुलिवन ने एयर फोर्स वन में पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘हम देखेंगे कि नेताओं की एक नई रणनीतिक अवधारणा प्रक्रिया के लिए एक प्रतिबद्धता है, जिसके परिणामस्वरूप अगले साल 2022 में नाटो शिखर सम्मेलन में एक नई रणनीतिक अवधारणा जारी की जाएगी।

अंतिम रणनीतिक अवधारणा 2010 में जारी की गई थी और अन्य बातों के अलावा इसमें रूस को ‘रचनात्मक भागीदार’ के रूप में संदर्भित किया जाएगा। यह नाटो के लिए उस सामरिक अवधारणा को अद्यतन करने का समय है। वह ( बिडेन) इस बारे में शिखर सम्मेलन में मित्र राष्ट्रों और भागीदारों के साथ परामर्श करेंगे।

इससे पहले व्हाइट हाउस ने यहां जारी एक बयान कहा था कि कि नाटो रूस और चीन के संबंध में अपनी रणनीतिक नीतियों में संशोधन करने जा रहा है तथा सामूहिक सुरक्षा के खतरों के साथ-साथ आतंकवाद, साइबर अपराध जैसे अंतरराष्ट्रीय चिंताओं और जलवायु परिवर्तन को संबोधित करते हुए एक नई रणनीतिक अवधारणा जारी करेगा।

उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन के कॉर्नवाल में काउंटी में आज जी 7 शिखर सम्मेलन हो रहा है। जी 7 शिखर सम्मलन में ब्रिटेन, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और कनाडा के नेताओं ने वैश्विक सुधार, कोविड-19 महामारी और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर चर्चा की।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।