गोवा के तटीय क्षेत्र से टकराया चक्रवाती तूफान, गुजरात, महाराष्ट्र में अलर्ट, कर्नाटक में 4 की मौत

0
203
Cyclone Storm

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान टाक्टे को लेकर कई राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया है। खुद प्रधानमंत्री समय-समय पर इसकी जानकारी ले रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार, यह गुजरात के वेरावल और पोरबंदर के बीच मांगरोल के पास तट से टकराएगा। इन तटों पर तीन दिन तक इस चक्रवाती तूफान का असर देखने को मिल सकता है। यह तूफान के दौरान 150 से 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। चक्रवाती तूफान को देखते हुए एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चक्रवात अभी गोवा के तट से टकराया है। वहां भारी बारिश हुई है और पेड़ गिरे हैं।

कर्नाटक: मौसम विभाग के अनुसार, चक्रवात टाक्टे के कारण पिछले 24 घंटों में 6 जिलों, 3 तटीय जिलों और 3 मलनाड जिलों में भारी से भारी वर्षा हुई है। अब तक 4 लोगों की जान जा चुकी है और 73 गांव प्रभावित हुए हैं।

गृहमंत्री अमित शाह ने बुलाई बैठक

चक्रवात तुफान को लेकर गृहमंत्री अमित शाह की बैठक जारी है। जिसमें गुजरात, महाराष्टÑ, दमन-दीव और दादर नगर हवेली राज्य के अधिकारियों के शामिल होने की खबर है।

एनडीआरएफ की टीमें तैनात

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन बल (एनडीआरएफ) की 50 से अधिक टीमों को पांच राज्यों-केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात और महाराष्ट्र में लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने तथा राहत एवं बचाव अभियान के लिए तैनात किया गया है। संबंधित राज्यों ने तटीय भागों में राज्य आपदा प्रबंधन बल (एसडीआरएफ) की टीमों को भी तैनात किया है। इन राज्यों के विभिन्न हिस्सों में रेड तथा आॅरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। लक्षद्वीप के निचले इलाकों में बाढ़ आने की अनुमान है।

पर्यटन गतिविधियों पर लगाई रोक

मछुआरों को मंगलवार तक अरब सागर में नहीं जाने को कहा गया है, जबकि पर्यटन गतिविधियों पर रोक लगा दी गयी और नौसैनिक अभियानों के लिए आवश्यक सावधानी बरतने की सलाह दी गई है। केरल, कर्नाटक और गोवा के तटीय जिलों में रविवार तक बहुत भारी से अत्यधिक भारी वर्षा होने, अचानक बाढ़ और भूस्खलन होने के आसार हैं। मंगलवार और बुधवार को गुजरात के सौराष्ट्र, कच्छ में बारिश होने का अनुमान है। भारतीय नौसेना और भारतीय तटरक्षक बल की टीमों को भी अलर्ट पर रखा गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम तूफान से उत्पन्न होने वाली स्थिति को लेकर समीक्षा बैठक करेंगे।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।