मध्य प्रदेश : बाढ़ पीड़ितों के लिए मसीहा बन पहुंचे सेवादार

0
386

सैकड़ों जरूरतमंद परिवारों को उपलब्ध करवाया राशन और टेंट

श्योपुर (मध्य प्रदेश)। डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत मानवता भलाई कार्यों के लिए हरदम तैयार रहती है। चाहे नेपाल और कच्छ (गुजरात) का भूकंप हो या उड़ीसा का चक्रवात या राजस्थान का सूखा, डेरा सच्चा एकमात्र ऐसी संस्था है, जिसके सेवादारों ने आपदाग्रस्त क्षेत्रों में जाकर डोर-टू-डोर राहत कार्य को अंजाम दिया और आपदा प्रभावित लोगों को मुश्किल घड़ी से निकलने में मदद की। इसी क्रम में मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश के चलते आई बाढ़ के कारण स्थानीय बाशिंदों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही थी। बाढ़ के कारण कई लोगों की जान चली गई। वहीं सैकड़ों परिवार आश्रयहीन हो गए। इस भीषण से निपटने के लिए एक ओर जहां प्रशासन लगा हुआ है। वहीं डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों द्वारा बाढ़ पीड़ितों की खुलकर सहायता की जा रही है।

45 मैंबर टीम दिन-रात सेवा कार्य में जुटी

डेरा सच्चा सौदा, सरसा से हरियाणा 45 मैंबर टीम के सदस्य विजय इन्सां, निरंकार इन्सां, बलजीत इन्सां, स्थानीय जिम्मेवार और सेवादार 45 मैंबर अरविंद इन्सां, 45 मैंबर चंद्रेश, मलकीत इन्सां, डॉ. मंगल इन्सां श्योपुर, बृजराज इन्सां, मिंटू इन्सां, राजू इन्सां आदि के सहयोग से दिन-रात एक करके बाढ़ पीड़ितों की सहायता कर रहे हैं। डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों की ये टीम सर्वे करके जरूरतमंद बाढ़ पीड़ितों को राशन के साथ-साथ टेंट आदि मुहैया करवा रही है। टीम द्वारा अब तक सैकड़ों परिवारों को राशन दिया जा चुका है। वीरवार को टीम ने 25 औरपरिवारों को राशन और टेंट मुहैया करवाया। बता दें कि सेवादारों की टीम द्वारा बाढ़ पीड़ितों की सहायता 8 अगस्त से अभी तक निरंतर जारी है, जिनमें ललितपुर, बड़ोदा, हिरनी खेड़ा, पिपालदा, कौडानशा, ठिकारिया आदि गांवों में सेवा कार्य किया जा चुका है और आगे दूसरे गांवों के लिए राहत कार्य का सफर जारी है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।