मनप्रीत सिंह बादल की कैबिनेट कुर्सी बची, गुरप्रीत कांगड़ से कुर्सी छीनी

0
188
Manpreet Singh Badal and Gurpreet Kangar sachkahoon

सच कहूँ/सुखजीत मान, बठिंडा। पंजाब सरकार में पैदा हुए आपसी घमासान के बाद नये मुख्य मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी की नियुक्ति के बाद आज मंत्रियों को शपथ दिलाए जाने के बाद जिला बठिंडा की पंजाब मंत्रालय में से आधी सरदारी चूक गई है। इससे पहले वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल और माल मंत्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ जिला बठिंडा में आते विधान सभा हलकों से विधायक थे। अब कांगड़ की पंजाब मंत्रालय में से छुट्टी होने के कारण सिर्फ मनप्रीत सिंह बादल ही रह गए हैं। विवरणों मुताबिक जिला बठिंडा में आते विधानसभा हलका बठिंडा (शहरी) में से विधायक मनप्रीत सिंह बादल और हलका रामपुरा फूल से गुरप्रीत सिंह कांगड़ दोनों पंजाब कैबिनेट का हिस्सा थे।

मनप्रीत सिंह बादल के पास वित्त मंत्रालय था और गुरप्रीत सिंह कांगड़ पहले बिजली मंत्री रहे और फिर माल मंत्री बने। कै. अमरिन्दर सिंह को हाईकमांन की तरफ से मुख्य मंत्री के पद से हटाए जाने के बाद जब चरनजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाया गया तो अब मंत्रियों की भी छंटनी हो गई। छंटनी वाली सूची में माल मंत्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ भी शामिल हैं जबकि मनप्रीत सिंह बादल की मंत्री वाली कुर्सी बच गई। मनप्रीत सिंह बादल के पास भी पंजाब के खजाने की चाबी ही रहेगी या कोई ओर विभाग मिलेगा इसका अभी कोई पता नहीं। मंत्रियों को बदलने की जब चर्चा छिड़ी थी तो शुरू से ही गुरप्रीत सिंह कांगड़ का नाम बदलने वालों में शामिल था।

कांगड़ पंजाब के पूर्व मुख्य मंत्री कै. अमरिन्दर सिंह के नजदीकियों में से गिने जाते हैं। इसके अलावा बीते दिनों दौरान कै. अमरिन्दर सिंह के मुख्यमंत्री होते पंजाब कैबिनेट की हुई मीटिंग में कांगड़ के जमाई गुरशेर सिंह को आबकारी और कर इंस्पेक्टर नियुक्त करने के मामले की विपक्ष आम आदमी पार्टी और शिरोमणी अकाली दल की तरफ से काफी चर्चा की गई थी। गुरशेर सिंह को यह नौकरी उनके पिता भूपजीत सिंह की साल 2011 में हुई मौत हो गई थी। वह आबकारी और कर विभाग में ईटीओ लगे हुए थे। इससे पहले जब पंजाब कैबिनेट में मनप्रीत सिंह बादल और गुरप्रीत सिंह कांगड़ थे तो पंजाब कैबिनेट में बठिंडा जिले का काफी हाथ माना जाता था परन्तु अब कांगड़ के पास से मंत्रालय न होने करके बठिंडा जिले का पहले जितना मान नहीं रहा। आज गुरप्रीत सिंह कांगड़ के साथ संपर्क करने की कोशिश की गई तो संपर्क नहीं हो सका।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।