गेहूं की कटाई ने पकड़ा जोर

0
96
Agricultural Experts

‘बौने प्रबंधों के बीच आग की घटनाओं पर काबू पाने के लिए बरनाला प्रशासन तैयार’ शीर्षक नीचे ‘सच कहूँ’ पहले ही किसानों को कर चुका है सुचेत (Wheat Harvesting )

बरनाल(सच कहूँ/जसवीर सिंह )। पूरे पंजाब में गेहूं की कटाई का काम पूरे जोरों पर होने के कारण हर किसान जल्द से जल्द अपनी फसल को काटकर बेचने या अपने घर संभालने को प्राथमिकता देता दिखाई दे रहा है। राज्य में बेशक सरकार ने कूपन व्यवस्था के अंतर्गत बारी के साथ किसानों की फसल खरीदने का ऐलान किया हुआ है परंतु किसान अपनी पक्क चुकी खड़ी फसल के मामले में कोई जोखिम नहीं लेना चाहते। (Wheat Harvesting ) गेहूं की कटाई के समय पहले की अपेक्षा भी और अधिक सावधानियां बरतने की जरूरत है, जिससे बिना किसी नुक्सान से अपनी मेहनत का मूल्य किसान के पल्ले पड़ सके।

खड़ी गेहूं या गेहूँ के अवशेष को आग से बचाने के लिए ‘सच-कहूँ’ द्वारा पहले ही किसानों को प्रशासन के प्रबंधों संबंधी ‘बौने प्रबंधों के बीच आग की घटनाओं पर काबू पाने के लिए बरनाला प्रशासन तैयार’ शीर्षक नीचे प्रमुखता से प्रकाशित की गई खबर में सुचेत किया जा चुका है।

छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखा जाए तो यह आगे जाकर सुख का कारण बनता है

अक्सर देखा जाता है कि गेहूं की पकी फसल मौके कुछ किसानों द्वारा इस्तेमाल की जाती छोटी सी लापरवाहियां कई बार घातक सिद्ध होती हैं, जिसमें पड़ा घाटा कई बार जहां किसानों के जान और माली नुक्सान का कारण बनता है, वहीं किसानों द्वारा अपने पुत्रों तरफ से दिन-रात एक कर तैयार की गई फसल पल में जल कर राख होने का संयोग भी बन जाता है और फिर केवल किसानों के पल्ले रोने- पछताने से अलावा कुछ नहीं रहता। ऐसा कुछ न घटे इस लिए किसानों को कुछ छोटी- छोटी परन्तु असरदार बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे गेहूं की पक्की फसल को सही सलामत काटने के बाद मंडियों तक पहुंचाया जा सके और की गई कड़ी मेहनत का मूल्य अपनी झोली में डालकर अपनी, जरूरतों की पूर्ति की जा सके।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।