राहत भरी खबर: कोविड की मार से उबर रहा है पर्यटन: रिपोर्ट

First girl of Fatehabad district going to Everest

देश के अधिकांश हिस्से में पर्यटन पूरी तरह से खुले

  • छोटी यात्राएं अभी भी पर्यटकों की पहले पसंद बनी

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। कोविड की मार से पर्यटन क्षेत्र उबर रहा है और लगभग 61 प्रतिशत भारतीय मनाली और गोवा सहित कई घरेलू स्थलों की यात्रा की योजना बना रहे हैं। पर्यटन से जुड़े एक अध्ययन में कहा गया है कि लगभग 94 प्रतिशत लोगों ने देश के भीतर ही पर्यटन को वरीयता दी है। अध्ययन के अनुसार 44 प्रतिशत भारतीय ठहरने के लिए होटल को वरीयता देते हैं जबकि शेष उसके बाद निजी विला और आवासों का स्थान आता है। इसके अलावा 55 प्रतिशत भारतीय तीन दिन की छोटी यात्राओं को प्राथमिकता देते हैं। अध्ययन में कहा गया है कि एक-तिहाई से अधिक भारतीय मनाली को अपना मनपसंद ‘हिल स्टेशन’ मानते हैं और गोवा पसंदीदा ‘बीच’ है।

कोविड महामारी के कारण लागू किये लॉकडाउन के बाद देश के अधिकांश हिस्से में पर्यटन पूरी तरह से खुल गया है। ‘ओयो मिड-समर वैकेशन इंडेक्स 2022’ के अनुसार अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा के खुलने के बावजूद 2022 में स्थानीय गंतव्यों को देखने का आकर्षण बना रहेगा। वर्ष 2020 के लॉकडाउन के बाद इस बार गर्मी में हर दूसरा भारतीय यात्री अपने पहली पर्यटन यात्रा पर निकलने की योजना बना रहे हैं। दिसम्बर 2021 में जब घरेलू पर्यटन खुला तो अधिकांश लोगों ने महामारी के कारण एक लम्बे समय के बाद अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से मिलने के लिए यात्रा करने को वरीयता दी थी। छोटी यात्राएं अभी भी पर्यटकों की पहले पसंद बनी हुई हैं।

26.5 प्रतिशत परिवार के साथ छुट्टियां बिताना पसंद करेंगे

अध्ययन में कहा गया है कि प्रतिशत से अधिक लोगों ने अपने दोस्तों के साथ घूमने का विकल्प चुना, तो वहीं 26.5 प्रतिशत परिवार के साथ छुट्टियां बिताना पसंद करेंगे। मात्र 13 प्रतिशत लोग इस बार की गर्मी में अकेले ही घूमने-फिरने की इच्छा जाहिर की। एक-चौथाई लोगों के लिए ‘हिल स्टेशन’ सबसे मनपसंद गंतव्य बन कर उभरे हैं। करीब 22 प्रतिशत लोगों ने ‘हिल स्टेशन’ और ‘बीच’ दोनों विकल्प चुना हैं। हिल स्टेशनों के मामले में एक-तिहाई से अधिक भारतीयों ने मनाली को अपने मनपसंद हिल स्?टेशन के रूप में चुना, जिसके बाद लगभग 20 प्रतिशत लोग इस बार की गर्मी में कश्मीर जाना चाहते हैं। अन्य लोकप्रिय विकल्पों में सिक्किम, ऊटी और मैकलॉएडगंज का उल्लेख भी हुआ।

शेष 58 प्रतिशत लोेगों ने बताया कि गोवा उनके सपनों का ‘समुद्रतट’ है। इसके बाद 12 प्रतिशत लोग अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह जाने के पक्ष में हैं। अध्ययन में कहा गया है कि भारतीय अभी भी विदेशी गंतव्यों की तुलना में देसी विकल्पों के प्रति आकर्षित हैं। एक-तिहाई से अधिक लोग मालदीव जाना चाहते हैं। इसके बाद दुबई, थाईलैंड और अमेरिका का स्थान है। लगभग 58 प्रतिशत पर्यटक स्विट्जरलैंड के बदले गुलमर्ग में छुट्टियां बिताना चाहते हैं, वहीं 70.3 प्रतिशत स्कॉटलैंड के बदले कुर्ग में और 67.9 प्रतिशत लोग अलास्का के बदले औली को पसंद करते हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here