किसान आंदोलन में शहीद हुए संगरिया-भादरा के किसानों को किया याद

Hanumangarh News

53 वर्ष पूर्व शहीद हुए जिले के 8 किसान

हनुमानगढ़। किसान शहीदों की याद में शनिवार को संगरिया में शहीद स्मारक पर नगर पालिकाध्यक्ष सुखबीर सिंह सिद्धू व वार्ड पार्षदों ने शहीद किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर 53 वर्ष पूर्व शहीद हुए जिले के 8 किसानों को याद किया गया। इस मौके पर पालिकाध्यक्ष सुखबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि आज से 53 वर्ष पूर्व 7 जनवरी 1970 को भाखड़ा नहरी क्षेत्र में सरकारी भूमि नीलामी को बंद कर भूमिहीन किसानों में आवंटन करने और सिंचाई पानी की मांग को लेकर हुए किसान आंदोलन में संगरिया-भादरा के 8 किसान शहीद हुए थे। आज ही के दिन किसान आंदोलन के दौरान संगरिया, भादरा व चूरू में किसानों पर गोली चलाई गई थी।

इससे एक ही दिन में संगरिया में 5 और भादरा में 3 किसानों ने शहादत दी थी। पार्षदों ने बताया कि इस स्मारक को पालिकाध्यक्ष सुखबीर सिंह सिद्धू ने आधुनिक रूप दिया है। यहां पर 100 फीट ऊंचा तिरंगा भी लगाया गया। इस शहीद स्मारक में 1970 में शहीद 8 किसानों व लखीमपुर खीरी में शहीद हुए 4 किसानों के नामों को दर्शाया गया है। शहीद भगतसिंह की बड़ी प्रतिमा के साथ-साथ मंशानाथ, बहादुर सिंह भोबिया, शिक्षा संत स्वामी केशवानंद की प्रतिमाओं के साथ 7 स्तंभ भी बनाए गए हैं। इस स्मारक की नींव श्रीराम पंचायती मंदिर के मुखिया दयानंद शास्त्री ने 1 वर्ष पूर्व नगर पालिका मंडल में रखी थी।

लगभग 1500 गज की जगह में करीब डेढ़ करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। शहीद हुए किसान देवेंद्रसिंह पुत्र गुरचरणसिंह अमरपुरा जालू (खाट), केसराराम पुत्र घिराराम नाथवाना, रूड़सिंह पुत्र दूदासिंह रतनपुरा, चंदूराम पुत्र खूबाराम धानक संगरिया, रामपहर सिपाही नंबर 140 चौटाला, सुभाषचंद्र पुत्र सत्यनारायण भादरा, बिहारी पुत्र आदराम भादरा व काशीराम भादरा के नाम स्मारक पर अंकित हैं। पार्षदों ने कहा कि पालिकाध्यक्ष ने इस स्मारक को बनाकर शहादत का सम्मान किया है। इस स्मारक ने संगरिया की शान बढ़ा दी है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here