कोरोना की तीसरी लहर की आंशका के मद्देनजर शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग सतर्क

0
361
Education and health department alert sachkahoon

अब स्कूल में रोजाना चैक होगा बच्चे का ऑक्सीजन लैवल

  • सरकार कक्षा स्तर पर बंटवाएगी 64 हजार 962 ऑक्सीमीटर

  • दिक्कत होने पर तुरंत अभिभावकों और डॉक्टर को दी जाएगी सूचना

भिवानी (सच कहूँ/इन्द्रवेश)। हरियाणा में कोविड की तीसरी लहर की आशंका के बीच पहली से पांचवी कक्षा तक के राजकीय स्कूलों को खोलने के लिए शिक्षा विभाग ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। विभाग ने प्राईमरी व माध्यमिक स्कूलों में विद्यार्थियों को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिए ऑक्सीमीटर बांटने शुरू कर दिए हैं। अब ये ऑक्सीमीटर स्कूलों में मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मामीटर की तर्ज पर कोविड से बचाव में मदद करेंगे। भिवानी जिले में 3 हजार 72 और प्रदेशभर में 64 हजार 962 ऑक्सीमीटर बांटे जाएंगे।

भिवानी के संस्कृति मॉडल स्कूल में मंगलवार को ऑक्सीमीटर वितरण के बाद बच्चों का ऑक्सीजन लेवल मापकर स्कूलों में प्रवेश दिया गया। ऑक्सीमीटर बांटने से पहले बच्चों के मास्क व शरीर का तापमान भी चैक किया गया तथा दो गज की दूरी का पालन करते हुए हाथों को सैनेटाईज करवाया गया, ताकि कोरोना महामारी से निपटा जा सके। इस बारे में खंड शिक्षा अधिकारी आनंद शर्मा ने बताया कि कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए स्कूलों को भली-भांति खोलकर यहां पर पढ़ाई करवाई जा सकें, इस उद्देश्य से शिक्षा विभाग व स्वास्थ्य विभाग स्कूलों की तरफ अतिरिक्त ध्यान दे रहे है, जिसके चलते अब प्रति सैक्शन एक ऑक्सीमीटर स्कूलों में दिया गया हैं। जिसकी जांच कक्षा इंजार्ज करेंगे तथा किसी भी बच्चें का ऑक्सीजन लेवल 94 से कम पाए जाने पर अध्यापक संबंधित बच्चों के अभिभावकों व चिकित्सक से संपर्क करेंगे। उन्होंने बताया कि अकेले भिवानी ब्लॉक में 950 ऑक्सीमीटर बांटे जाने हैं, जिनमें से 500 ऑक्सीमीटर का वितरण किया जा चुका है।

वहीं स्कूल प्राचार्य सविता घणघस व स्कूल की छात्रा सिमरन व सविता ने बताया कि ऑक्सीमीटर मिलने के बाद अब स्वास्थ्य सुरक्षा बढ़ेगी। स्कूल में आने वाले बच्चों का प्रतिदिन ऑक्सीजन लेवल भी सरकारी रिकॉर्ड में दर्ज हो सकेगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।