चौथे दिन दो और जेल प्रहरियों की बिगड़ी तबीयत

अस्पताल में भर्ती, रविवार को सात जेल प्रहरियों को हालत बिगडऩे पर भेजा गया था अस्पताल

हनुमानगढ़। (सच कहूँ न्यूज) कड़ाके की ठंड के बीच जिला कारागृह परिसर में जेल प्रहरियों की भूख हड़ताल सोमवार को चौथे दिन भी जारी रही। अन्न-जल त्यागने के कारण दो दिन में नौ जेल प्रहरियों को हालत नाजुक होने के कारण जिला अस्पताल में भर्ती करवाया जा चुका है। शेष जेल प्रहरियों की हालत भी भूखे रहने के कारण धीरे-धीरे खराब होती जा रही है। रविवार को सात व सोमवार को दो जेल प्रहरियों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। सोमवार सुबह भी प्रशासन की ओर से भेजे गए सरकारी चिकित्सक ने जेल प्रहरियों के स्वास्थ्य की जांच की। लगभग सभी के पैरामीटर डाउन आए।

यह भी पढ़ें:– राजनेताओं पर हमले की फिराक में थे आतंकवादी: पुलिस

ग्लूकोज लेवल भी काफी नीचे पाया गया। हनुमानगढ़ के अलावा नोहर व भादरा में भी जेल प्रहरियों की ओर से अन्न त्याग कर मैस का बहिष्कार किया जा रहा है। मैस बहिष्कार आंदोलन अखिल राजस्थान राज्य संयुक्त कर्मचारी महासंघ एकीकृत के बैनर तले किया जा रहा है। सोमवार को जिला कारागृह में चल रहे जेल प्रहरियों के धरने पर पहुंचे महासंघ जिलाध्यक्ष अशोक भोभिया ने बताया कि प्रदेश भर की जेलों में चल रहे आंदोलन के दौरान भूखे रहने से जेल प्रहरियों की तबीयत बिगडऩे लगी है। उन्हें अस्पतालों में भर्ती करवाया जा रहा है। इसके चलते सरकार भी नींद से जागी है। शाम तक सरकार से वार्ता होने पर जल्द आंदोलन समाप्त होने की उम्मीद जगी है।

उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से लगातार आश्वासन दिया जाता रहा है, लेकिन उस पर अमल नहीं किया गया। इसके कारण जेल प्रहरियों में रोष व्याप्त है। जेल प्रहरी भी पुलिस व आरएसी की तरह सेवाएं दे रहे हैं और उन्हें खतरनाक कैदियों के बीच रहना पड़ता है। इसके बावजूद भी वेतन में काफी कमी है और भत्ते भी उन्हें नहीं मिल पा रहे हैं। इस गहरी वेतन विसंगति को दूर करने की मांग को लेकर लगातार आंदोलन करते हुए अब आर-पार की लड़ाई की तैयारी है। इस मौके पर जिला जेल के सीनियर नर्सिंग ऑफिसर सुरजाराम सहित कई जेल प्रहरी मौजूद थे। गौरतलब है कि सरकार से हुए समझौते को लागू नहीं करने को लेकर जेल प्रहरियों का यह आंदोलन चल रहा है। चार दिनों से मैस का बहिष्कार कर भूख हड़ताल कर रहे जेल प्रहरियों की तबीयत भी बिगडऩे लगी है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here