यह खबर आपके लिए:- खराब मौसम के कारण लोगों को ज्यादा ऊंचाई पर जाने से बचने की सलाह

शिमला (एजेंसी)। हिमाचल प्रदेश में हाड़ कंपा देने वाली शीतलहर और बर्फबारी की संभावना को ध्यान में रखते हुए लाहौल-स्पीति जिला प्रशासन ने यात्रियों और पर्यटकों को राज्य के ऊंचाई वाले स्थानों की अनावश्यक यात्रा से बचने की सलाह दी है। लाहौल-स्पीति के उपायुक्त ने बुधवार को मीडिया में जारी मौसम अलर्ट में कहा कि मौसम विभाग ने जिले में 19, 20 और 23 से 26 जनवरी तक बर्फबारी होने का अनुमान लगाया है।

यह भी पढ़ें:– देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के दो मरीजों की मौत

मौसम अलर्ट में कहा गया, ‘चेतावनियां जारी होने के बावजूद लोग ऊंचाई वाले पहाड़ी इलाकों में जाकर अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं। जिले में बर्फबारी के पूवार्नुमान को देखते हुए सभी नागरिकों और पर्यटकों से ऊंचाई वाले स्थानों और कम तापमान वाले क्षेत्रों में अनावश्यक यात्रा से बचने की सलाह दी जाती है, वे अपने घरों में सुरक्षित रहें और किसी प्रकार का जोखिम न लें। इसलिए सभी ग्राम पंचायतों, गैर सरकारी संगठनों, ट्रेकर और पैदल यात्रियों से अनुरोध किया जाता है कि वे किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए इस संदेश को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं।

रात का तापमान शून्य से नीचे

राज्य में हाड़ कंपा देने वाली शीतलहर लगातार जारी है और रात का तापमान शून्य से नीचे बना हुआ है, आंशिक रूप से बादल छाए हुए हैं और घने कोहरे और पाला पड़ने के कारण राज्य में सामान्य जनजीवन और याताताय प्रभावित हुआ है और रोड फिसलन भरा है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, दो राष्ट्रीय राजमार्गों सहित 93 सड़कें बर्फ की चादर से ढकी हुई हैं और वाहनों के आवागमन के लिए उपयुक्त नहीं हैं।

लाहौल-स्पीति पुलिस ने यातायात परामर्श जारी कर कहा है कि सभी स्थानीय लोग और पांगी जाने वाले वाहन अगले आदेश तक रोहतांग सुरंग के माध्यम से जिले में आवागमन कर सकते हैं। अगले आदेश तक दोपहिया वाहन के अलावा सभी पर्यटक वाहन राज्या में एटीआर के माध्यम से जिले में सुबह 10 बजे से शाम तीन बजे तक आवागमन कर सकते हैं। स्थानीय लोगों और पर्यटकों को खराब मौसम के कारण घाटी में यात्रा के दौरान बहुत सतर्क रहने की सलाह दी गई है। लाहौल-स्पीति पुलिस विभाग यातायात प्रबंधन देखेगा और ज्यादा बर्फबारी होने पर कुल्लू पुलिस के साथ समन्वय करेगा।

पुलिस ने पर्यटकों से अनुरोध किया कि वे खराब मौसम में सुरक्षित स्थानों पर रहें। लाहौल-स्पीति जिले में एनएच-3 और एनएच 304 सहित लगभग 76 सड़कें बर्फ की चादर से लिपटी हुई है। केलांग में पारा शून्य से 10 डिग्री नीचे दर्ज किया गया। किन्नूर के कल्पा में न्यूनतम तापमान शून्य से 4.5 डिग्री नीचे, मनाली में शून्य से 2.2 डिग्री नीचे, नारकंडा में शून्य से 1.7 डिग्री नीचे, सोलन में शुन्य से 0.7 डिग्री नीचे, बिलासपुर और शिमला में शुन्य से 1.0 डिग्री नीचे दर्ज किया गया। जबकि डलहौजी और ऊना शून्य डिग्री, धर्मशाला और कांगड़ा 2.2 डिग्री, हमीरपुर में 2.0 डिग्री और मंडी में 2.5 डिग्री दर्ज किया गया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here