आरएसएस की विचारधारा से कभी समझौता नहीं कर सकता : राहुल

0
132
rahul ghandi

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ-(आरएसएस) की सोच नफरत फैलाने और समाज को बांटने वाली है इसलिए वह आरएसएस-भाजपा की विचारधारा से कभी समझौता नहीं कर सकते हैं। गांधी ने महिला कांग्रेस के स्थापना दिवस पर बुधवार को यहां पार्टी मुख्यालय में देश के विभिन्न हिस्सों से आई महिला कांग्रेस की पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘आज देश में आरएसएस-भाजपा की सरकार है। इनकी विचारधारा और हमारी विचारधारा में बड़ा फर्क है। देश पर शासन कभी एक विचारधारा तो कभी दूसरी विचारधारा करेगी। (Rahul Gandhi) लेकिन इनकी विचारधारा नफरत फैलाती है इसलिए वह किसी भी अन्य विचारधारा से समझौता कर सकते हैं लेकिन आरएसएस और भाजपा की विचारधारा से कभी समझौता नहीं कर सकते।

आरएसएस के लोग हिंदुत्व को बढ़ावा देते हैं

उन्होंने कहा कि गांधीजी और सावरकर की विचारधारा में जो फर्क है उसको जानना सबके लिए जरूरी है। सवाल यह है कि भाजपा के लिए कहा जाता है कि वह हिंदू पार्टी है और आरएसएस के लोग हिंदुत्व को बढ़ावा देते हैं। लेकिन पिछले सौ दो सौ साल के दौरान अगर किसी ने ठीक तरह से हिंदू धर्म को समझा और उसको आत्मसात किया तो वह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी थे। आरएसएस तथा भाजपा के लोग भी यह मानते है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि भारत ही नहीं सारा संसार गांधी जी का सम्मान करता है। नेल्सन मंडेला सहित पूरी दुनिया के महान लोग महात्मा गांधी को मानते थे और अगर ऐसा है तो सवाल यह है कि आरएसएस की विचारधारा ने इस महान व्यक्ति की छाती पर गोली क्यों मारी। प्रश्न यह है कि यदि पूरी दुनिया गांधीजी का सम्मान करती है तो फिर आरएसएस, सावरकर तथा गोडसे की विचारधारा ने इस विभूति को गोली मारकर छलनी क्यों किया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।