पंजाब विधानसभा सत्र दौरान मुख्यमंत्री भगवंत मान ने दी चेतावनी

Bhagwant maan

‘चाहे किसी पार्टी में चले जाओ, बख्शा नहीं जाएगा : CM’

चंडीगढ़ (सच कहूँ ब्यूरो)। पंजाब विधानसभा में सीएम भगवंत मान ने भाजपा में शामिल होने वालों के लिए चेतावनी जारी कर दी। उन्होंने कहा कि चाहे किसी बड़ी सत्ताधारी पार्टी में चले जाओ, कार्रवाई से नहीं बचेंगे। उनका सीधा इशारा भाजपा की तरफ था। वह भी जेल की तरफ आएंगे। उसका कार्रवाई से कोई मतलब नहीं है। हाल ही में कांग्रेस के 4 पूर्व मंत्री बलबीर सिद्धू, शाम सुंदर अरोड़ा, राजकुमार वेरका और गुरप्रीत कांगड़ भाजपा में शामिल हुए थे। सीएम मान ने तंज भी कंसते हुए कहा कि कुछ पूर्व मंत्री हाईकोर्ट जा रहे हैं। सरकार ने उनका नाम तक नहीं लिया। इसका मतलब उन्होंने कुछ किया है। सरकार भ्रष्टाचार करने वाले किसी भी नेता, रसूखदार या ब्यूरोक्रेट्स यानी अफसर को नहीं छोड़ेगी।

पंजाब का पैसा लूटने वालों से सब वसूलूंगा

सीएम मान ने कहा कि जिन लोगों ने पंजाब का पैसा लूटा, उनसे वसूली की जाएगी। उन्होंने कहा कि विपक्षी पूछ रहे हैं कि पंजाब के विकास के लिए पैसा कहां से आएगा?। यह उन लोगों से भी आएगा, जिन्होंने सरकारी खजाने को लूटा है। मान से कहा कि जनता का पैसा मैं डकारने नहीं दूंगा।

बजट में विरोधियों को कमियां ढूंढने में करनी पड़ी मशक्कत

भगवंत मान ने कहा कि वित्त मंत्री हरपाल चीमा ने इतना अच्छा बजट बनाया कि विरोधियों को कमियां ढूंढने में मशक्कत करनी पड़ रही है। मान ने कहा कि हम पैसे जहां से मर्जी लाएं, लेकिन 300 यूनिट फ्री बिजली देंगे। उन्होंने कहा कि 36 हजार कर्मचारी पक्के करने की बात कही गई लेकिन फाइल गवर्नर आॅफिस में पड़ी हुई थी।

हालात सुधरते ही देंगे महिलाओं को 1000 रुपए

सीएम मान ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने महिलाओं से जो वादा किया था, उसे पूरा किया जाएगा। सरकार के पास संशाधन होते ही पहला काम महिलाओं को 1 हजार रुपए प्रतिमाह देने का किया जाएगा।

आप ने 3 महीने 8000 करोड़ कर्ज लिया, 10,500 करोड़ लौटाया: चीमा

पंजाब के वित्त मंत्री हरपाल चीमा ने विधानसभा में बताया कि 3 महीने में आम आदमी पार्टी सरकार ने 8 हजार करोड़ का कर्ज लिया है। हालांकि सरकार ने 10,500 करोड़ का कर्ज वापस भी लौटाया है। जितना कर्जा लिया, उससे 2500 करोड़ ज्यादा वापस किया। उन्होंने पिछली कांग्रेस सरकार को भी घेरा। चीमा ने कहा कि साल 2020-21 में 42 हजार 386 करोड़ कर्ज लिया गया। 2021-22 में 41 हजार 83 करोड़ कर्ज लिया गया। पंजाब सरकार की कर्ज लेने की लिमिट 55 हजार करोड़ है लेकिन हमारी सरकार ने तय किया है कि साल में 35 हजार करोड़ से ज्यादा कर्ज नहीं लेंगे। इस दौरान 36 हजार करोड़ कर्ज वापस भी करेंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।