किट अप्रूव्ड नहीं तो नहीं मिलेगी अब सीएनजी

0
315
CNG sachkahoon

मानसा में हुए सीएनजी ब्लास्ट के बाद कंपनी ने जारी किया पत्र

  • जिला में लगे हुए हैं 5 सीएनजी पंप

सच कहूँ/राजू, ओढां। सीएनजी से वाहन चलाकर बचत करने वाले लोगोेंं के लिए परेशानी भरी खबर है। अब सिर्फ अप्रूव्ड किट और गाड़ी की आरसी पर सीएनजी की स्वीकृति के बाद ही वाहन में सीएनजी भरवाई जा सकेगी। गैस एजेंसी की ओर से जारी की गई नई हिदायतों से वाहन चालकों को परेशानी झेलते देखा जा रहा है। कुछ दिन पूर्व मानसा में सीएनजी भरवाते समय सिलेंडर में हुए ब्लास्ट के बाद गुजरात गैसज की ओर से पेट्रोल पंप मालिकों को हिदायतें जारी कर दी गई है। इन हिदायतों के बाद पेट्रोल पंपों पर भीड़ कम हो गई है तो वहीं वाहन चालक पंप संचालकोंं से उलझते भी देखे जा रहे हैं।

जिला में 5 सीएनजी पंप लगे हुए हैं। हिदायतों के मुताबिक गाड़ी में सीएनजी सिलेंडर लगवाना है तो मंजूरशुदा सेंटर से ही सीएनजी किट लगवाएं। इसके बाद हाइड्रोटेस्टिंग सेंटर से इसका सर्टिफिकेट लेना होगा। इसके बाद आरटीए ऑफिस में इसकी आरसी पर एंट्री करवाई जा सकती है। कंपनी ने हिदायत तो जारी कर दी, लेकिन इन हिदायतों ने वाहन चालकों के लिए एक तरह से परेशानी खड़ी कर दी है। इसका कारण ये है कि जिला में अभी तक कहीं भी कोई टेस्टिंग सेंटर नहीं है।

पंजाब नंबर का वाहन हरियाणा के टेस्टिंग सेंटर में करवा सकता है हाइड्रोटेस्ट

बताया जा रहा है कि रोहतक, दिल्ली व सोनीपत में हाइड्रोटेस्टिंग सेंटर हैं। हालांकि मानसा में हुए सीएनजी ब्लास्ट से पूर्व पंप संचालकों की ओर से सीधे तौर पर सीएनजी भरी जा रही थी। जिसके कुछ समय बाद गाड़ी पर प्लेट लगाना अनिवार्य कर दिया गया। अब जब लोगों ने प्लेट लगवा ली तो कंपनी ने मानसा घटना का हवाला देकर नई हिदायतें जारी कर दीं। इन हिदायतों के बाद जिन पंपों पर काफी भीड़ देखी जा रही थी वहां अब वाहन काफी कम नजर आ रहे हैं। इस परेशानी से बचने के लिए वाहन चालक किसी भी टेस्टिंग सेंटर में जाकर सीएनजी हाइड्रोटेस्ट करवा सकते हैं। अगर कोई पंजाब नंबर का वाहन है तो हरियाणा के टेस्टिंग सेंटर में जाकर हाइड्रोटेस्ट करवा सकता है।

वाहन चालक परेशान, कंपनी बोली, सुरक्षा जरूरी

हिदायतों के बाद सीएनजी सिलेंडर लगे वाहन चालकों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। लेकिन कंपनी का कहना है कि सुरक्षा के लिहाज से ये कदम उठाया गया है। लोगों को ये समझ नहीं आ रहा कि अप्रुव कहां से करवाएं। क्योंकि सरसा में कोई टेस्टिंग सेंटर नहीं है। कुछ वाहन चालकों ने बताया कि पेट्रोल के बढ़ते दामों के चलते सीएनजी काफी अच्छा विकल्प था, लेकिन नई हिदायतों के चलते लग रहा है कि फिर से पेट्रोल पर निर्भर होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में कोई भी टेस्टिंग सेंटर न होने से उन्हें ये समझ नहीं आ रहा कि वे अपने वाहनों में सीएनजी किस तरह से भरवाएं। समस्या उन वाहन चालकों के समक्ष खड़ी हुई देखी जा रही है जिन्होंने बिना किसी कंपनी के लोकल रूप से अपने वाहन में सीएनजी की फिटिंग करवा रखी है। जिला में 5 सीएनजी पंप हैं। जिनमें सरसा में एयर फोर्स स्टेशन के पास, हिसार रोड व पनिहारी तथा डबवाली में बिजली घर व चौटाला में सीएनजी के पंप शामिल हैं।

‘‘मानसा में हुए सीएनजी ब्लास्ट के बाद कंपनी ने हिदायतें जारी की हैं। हिदायतों के मुताबिक सीएनजी भरवाने के लिए हाइड्रोेटेस्टिंग सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है। अप्रुवल किट वाली गाड़ियों मेंं ही सीएनजी भरी जाएगी। हां, इस प्रक्रिया में वाहन चालकों को एक बार परेशानी होना स्वाभाविक है, लेकिन ये सुरक्षा के लिहाज से उचित है।

सुशील बंसल, सीएनजी पंप संचालक (डबवाली)।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।