गिरा पर्स असली मालिक को लौटाकर ‘इन्सां’ ने दिया ईमानदारी का सुबूत

बरनाला। (जसवीर सिंह गहल) ऐसे दौर में जहां हाथ को हाथ खाए जा रहा है, वहीं डेरा श्रद्धालु अपने मुर्शिद-ए-कामिल के पावन वचनों पर अमल करत हुए ईमानदारी को बाखूबी जिन्दा रख रहे हैं। ऐसी ही एक मिसाल स्थानीय शहर की एक डेरा श्रद्धालु महिला ने पेश की है, जिसने मिला पर्स उसके असली मालिक को वापिस कर दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बेअंत कौर इन्सां अपनी माता सुखदेव कौर इन्सां सहित सिविल अस्पताल बरनाला में अपने बेटे को दवाई दिलाने के लिए आई थी, जहां अस्पताल के पार्क में उसे एक पर्स गिरा हुआ मिला, जिसमें एक आधार कार्ड, एक आयुष्मान योजना वाला कार्ड और 2500 रुपये के करीब की नकदी मौजूद थी। बेअंत कौर इन्सां ने आसपास पता किया लेकिन कहीं से भी पर्स के असली मालिक का पता नहीं चला। फिर अचानक ही तेज कौर निवासी शहना कुछ और अन्य महिलाओं के साथ इधर-उधर किसी वस्तु की तलाश करती नजर आई।

पूछ जाने पर पता चला कि कि उनका पर्स कहीं खो गया है, जिसमें कुछ नगदी और जरुरी कागजात हैं। जब बेअंत कौर इन्सां ने बताया कि उनको पर्स मिला है तो उक्त महिलाओं ने राहत की सांस ली। बेअंत कौर इन्सां ने बताया कि वह डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के श्रद्धालु हैं, जिनके द्वारा हमेशा ही सच्चाई के रास्ते पर चलते रहने और मानवता भलाई के कार्य करने की प्रेरणा दी जाती है, जिस पर चलते हुए उसने पर्स उसके मालिक को सौंप दिया। तेज कौर शहना ने पर्स वापिस मिलने पर पूज्य गुरू जी और बेअंत कौर इन्सां का तहदिल से धन्यवाद किया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।