‘जीएसटी संग्रहण में हरियाणा पूरे देश में 5वें स्थान पर रहा’

GST sachkahoon

उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला बोले, इस वर्ष जीएसटी संग्रहण में 16 प्रतिशत हुई बढ़ोतरी

  • हरियाणा में 30 करोड़ की लागत से जीएसटी कार्यालयों का हुआ आधुनिकीकरण

सच कहूँ/अनिल कक्कड़, चण्डीगढ़। हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कि हरियाणा, जो क्षेत्रफल तथा जनसंख्या के मामले में कई राज्यों से छोटा हैं, लेकिन जीएसटी (GST) संग्रहण में पूरे देश में 5वें स्थान पर रहा है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष हमारा जीएसटी संग्रहण 16 प्रतिशत बढ़ा है, जिसके तहत कुल जीएसटी संग्रहण 35390 करोड़ रहा है जबकि पिछले वर्ष यह 30507 करोड़ था।

उन्होंने कहा कि हरियाणा आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर हैं, इसलिए हमने जीएसटी (GST) संग्रहण का 40 हजार करोड़ का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसी प्रकार, उन्होंने एसजीएसटी की जानकारी देते हुए बताया कि इस वर्ष एसजीएसटी का कुल संग्रहण 15115 करोड़ रहा है जोकि पिछले वर्ष 11959 करोड़ रहा था। इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए हमारे विभाग द्वारा 12 से 15 अधिकारियों की एक टीम का गठन किया गया जो जीएसटी चोरी पर नकेल कसने में काफी हद तक कामयाब भी रही।

इसके अलावा, हमने हरियाणा को मॉडयूल-1 से बदलकर मॉडयूल-2 में शिफट करने का काम किया और आंकडों में देरी के समय को भी कम करने का भी प्रयास किया गया। उन्होंने बताया कि हरियाणा में 30 करोड़ रूपए की लागत से जीएसटी कार्यालयों का आधुनिकीकरण किया गया जिसमें हाई स्पीट इंटरनेट, कम्यूटर, आर्टिफिशियल इंटलीजेंस पर बल देकर उसे अपग्रेड किया गया है।

एयरस्पेस एवं डिफेंस पॉलिसी को मंजूरी

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि एयरोस्पेस डिफेंस की नवीनता पर काम किया जा रहा है और इसी कड़ी में एयरोस्पेस डिफेंस उत्पादन व विनिर्माण को अनुमति दी गई हैं। इसके तहत एक बिलियन डालर के निवेश को आकृर्षित करने का लक्ष्य रखा गया है। राज्य में पांच एयरपटिटयां पिंजौर, करनाल, नारनौल व भिवानी इत्यादि में हैं जिसके तहत यदि कोई यूनिट एयरपटटी के 10 किलोमीटर के दायरे में डिफेंस से संबंधित उत्पादन करता हैं तो उसे सरकार द्वारा 5 प्रतिशत का प्रतिपूर्ति की जाएगी।

ऐसे ही, 25 किलोमीटर के दायरे में काम करने वाली यूनिट को 20 करोड़ रूपए तक का एसजीएसटी (GST) का रिफंड किया जाएगा जिसके तहत बी ब्लाक में 6 वर्ष तक 50 प्रतिशत, सी ब्लाक में 8 वर्ष तक 75 प्रतिशत व डी ब्लाक में 10 वर्ष तक 100 प्रतिशत का रिफंड होगा।

गुरूग्राम: 25 एकड़ में बनेगा हैलीहब

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार ड्रोन के क्षेत्र में अपना कदम आगे बढ़ा रही हैं और अगले पांच सालों में उड़ड्यन ड्रोन विनिर्माण पर काम किया जाएगा। उन्होंने बताया कि हिसार एयरपोर्ट एक विकल्प के रूप में तैयार हो रहा है और इस एयरपोर्ट का कार्य मध्य चरण में हैं और यह एक विकास में त्वरित गति प्रदान करने का काम करेगा।

उन्होंने बताया कि राज्य के गुरूग्राम में द्वारका एक्सप्रैस के साथ 25 एकड़ भूमि में एक हैलीहब बनाने का भी प्रस्ताव है जोकि चारधाम यात्रा व बी-टू-बी जैसे कार्य को बढावा देने में पूरा सहयोग करेगा और इससे कनैक्टीविटी में भी बढ़ोरती होगी। उन्होंने बताया कि यह हैलीहब एनसीआर में अपनी तरह का सबसे बड़ा हैलीहब होगा।

किसानों के खातों में 7330 करोड़ की राशि पहुंचाई

राज्य में फसल की उपज की खरीद के संबंध में बातचीत करते हुए कहा चौटाला ने कहा कि अब तक राज्य में शत-प्रतिशत उपज का उठान हो चुका है और एफसीआई के रैकस तथा अन्य राज्यों में भेजने का कार्य पूरा कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि किसानों को 7330 करोड़ रूपए की राशि उनके खातों में पहुंचाई जा चुकी है जोकि 99 प्रतिशत से अधिक है।

पटवारखानों व तहसीलों का होगा अपग्रेडेशन

उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पटवारखानों व तहसीलों को अपग्रेड किया जाएगा और पटवारियों को डिजीटाईजेशन करके उन्हें सुसज्जित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि फसल खराबे के मामले में हरियाणा सरकार जल्द ही एक कदम आगे बढाने जा रही हैं जिसके तहत किसान अपनी फसल के खराबे के संबंध में रिपोर्टिंग अपने मोबाइल फोन के माध्यम से भेज सकेगा ओर उसकी जानकारी अपलोड कर पाएगा जिसके उपरांत संबंधित पटवारी जांच करेगा जिससे समय की बचत होगी।

इसके अलावा, उन्होंने बताया कि भूमि का रिकार्ड (GST) डिजीटली कर दिया गया है और इसी तर्ज पर पंचायत की भूमि व पटवारखाने के रिकार्ड का भी डिजीटलीकरण होगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here