हद से ज्यादा मानसून की मेहरबानी बनी आफत

 कहीं कमरे की छत गिरी तो कहीं निचले इलाकों में स्थित घरों व दुकानों में भरा पानी

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। जिले में इस बार मानसून की मेहरबानी हद से ज्यादा हो गई। मानसून की बारिश राहत के साथ आफत लेकर आई। हनुमानगढ़, संंगरिया व रावतसर क्षेत्र में रविवार को दोपहर बाद से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला देर रात तक रूक-रूक कर जारी रहा। सोमवार सुबह लोग उठे तो निचले इलाकों में बनी सड़कें दरिया का रूप धारण कर चुकी थी। इस कारण लोगों को आवागमन में मुसीबत का सामना करना पड़ा। बारिश के चलते कई मकानों की छत गिर गई तो कहीं पूरा मकान ही ढह गया। निचले इलाकों में स्थित घरों व दुकानों में पानी भर गया। दुकानदार व परिवार के सदस्य रविवार रात से पानी निकालने में जुटे रहे। नगर परिषद व नगर पालिका के कर्मचारी सोमवार को पानी निकासी में जुटे रहे। अत्यधिक बारिश के कारण गांव-शहर की कई स्कूलों में भी पानी भर गया। इसके चलते शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार हनुमानगढ़, संंगरिया व रावतसर के शहरी क्षेत्र के राजकीय व निजी विद्यालयों में अवकाश रहा। कई गांवों में भी सरकारी व निजी स्कूलों की छुट्टी रही। स्कूलों से भी बरसाती पानी की निकासी करवाई गई। आंंगनबाड़ी केन्द्रों पर भी महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक के निर्देशानुसार छुट्टी रही। उधर, जिले के रावतसर कस्बे में सर्वाधिक बारिश हुई जो आफत बन गई। रविवार को हुई बारिश ने रावतसर नगर पालिका के दावों की पोल खोल दी। बरसाती पानी की निकासी न होने से रावतसर का पूरा कस्बा सोमवार को जलमग्न रहा। बाजार के दुकानदार सोमवार को दुकानों से पानी निकालने में जुटे रहे। सोमवार को पीलीबंगा विधायक धर्मंेद्र मोची ट्रैक्टर पर बैठकर रावतसर में जल भराव वाले क्षेत्र में निकले। उन्होंने बरसाती पानी भराव वाली जगहों का जायजा लिया। बारिश प्रभावित जगहों का जायजा लेने के बाद विधायक धर्मंेद्र मोची रावतसर उपखण्ड कार्यालय के सामने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठ गए। कार्यकर्ताओं ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए समय रहते प्र्रशासन पर बरसाती पानी निकासी की व्यवस्था नहीं करने के आरोप लगाए। संगरिया तहसील क्षेत्र में भी कुछ इसी तरह के हालात रहे। रविवार को घंटों हुई झमाझम बारिश के बाद सोमवार को जिला मुख्यालय पर धूप खिली और लोग उमसभरी गर्मी से परेशान रहे। साथ ही पूरा दिन बार-बार लग रहे विद्युत कटों ने परेशान किए रखा।

इन जगहों पर बारिश बन गई लोगों के लिए आफत

रविवार को मेघगर्जन के साथ हुई तेज बारिश के दौरान कई जगह नुकसान होने का समाचार है। बारिश के दौरान रविवार देर रात टाउन में टिब्बी रोड पर जीप स्टैंड के पास स्थित वार्ड 36 में मकान के ऊपर बने कमरे की छत गिर गई। इससे मलबे में दबने से परिवार के एक दिव्यांग सदस्य सतपाल के सिर व छाती पर चोट लगी। साथ ही घरेलू सामान मलबे में दबने से खराब हो गया। सुरेन्द्र कुमार सहित वार्डवासियों ने आर्थिक रूप से कमजोर इस परिवार को मुआवजा दिलवाने की मांग की। टाउन के ही वार्ड 38, रूपनगर में संजय मित्तल नामक व्यक्ति के मकान को भी बारिश से नुकसान हुआ। बारिश के कारण एक कमरे की छत गिर गई। इसके अलावा पूरे मकान की दीवारों में दरारें आ गई। रविवार शाम को हुई छत गिरने की घटना के बाद पूरी रात परिवार डर के चलते सो नहीं पाया। बताया जा रहा है कि रविवार को हुई भारी बारिश का पानी नाली के जरिए मकान की नींव में चला गया। इस कारण मकान को नुकसान हुआ। सूचना मिलने पर वार्डवासियों ने संजय मित्तल के घर पहुंच घटना की जानकारी ली। इस दौरान मौजूद पूर्व पार्षद विनोद कुमार वर्मा ने मांग की कि नगर परिषद अधिकारी नुकसान का सर्वे कर पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद करे। गांव चक ज्वालासिंहवाला के नजदीक 44 एनजीसी में मक्खनसिंह पुत्र गुरदयाल सिंह नामक व्यक्ति की ढाणी में बने मकान पर बिजली गिरने से कमरों की छतों को नुकसान पहुंचा। मकान की दीवारें में दरारें आ गर्इं। बिजली गिरने की घटना करीब साढ़े सात बजे हुई। छत गिरने से घरेलू नुकसान मलबे तले दब गया। इस दौरान मक्खनसिंह का एक बेटा रणवीर सिंह उर्फ गग्गु छत के मलबे तले दबने से घायल हो गया। मक्खनसिंह ने भी प्रशासनिक अधिकारियों से मुआवजा दिलाने की गुहार लगाई।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here