सिख गुरूओं की परंपरा से विश्व को रूबरू कराना जरूरी: पीएम

0
17
It is necessary to get the world noticed by the tradition of Sikh Gurus PM

कैप्टन ने केंद्र से मांगा 937 करोड़ का फंड

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीरवार को कहा कि देश में सिख गुरूओं की परंपरा अपने आप में संपूर्ण जीवन दर्शन रही है और इसके मूल चिंतन को युवा पीढ़ी तथा दुनिया में सभी लोगों तक पहुंचाया जाना चाहिए। गुरु तेगबहादुर जी का 400वां प्रकाश परब मनाने लिए गठित उच्च स्तरीय समिति की बैठक की वीरवार को अध्यक्षता करते हुए मोदी ने कहा, ‘गुरु तेगबहादुर जी के चार सौवें प्रकाश परब का अवसर एक आध्यात्मिक सौभाग्य भी है, और एक राष्ट्रीय कर्तव्य भी है। गुरुनानक देव जी से लेकर गुरु तेगबहादुर जी और फिर गुरु गोबिन्द सिंह जी तक, हमारी सिख गुरु परंपरा अपने आप में एक सम्पूर्ण जीवन दर्शन रही है।

पूरा विश्व अगर जीवन की सार्थकता को समझना चाहे तो हमारे गुरुओं के जीवन को देख बहुत आसानी से समझ सकता है। उनके जीवन में उच्चतम त्याग भी था, तितिक्षा भी थी। उनके जीवन में ज्ञान का प्रकाश भी था, आध्यात्मिक ऊंचाई भी थी। हमारे देश का ए जो मूल चिंतन है, उसको लोगों तक पहुंचाने का ए हमारे लिए बहुत बड़ा अवसर है। इस दौरान पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने केंद्र सरकार से 937 करोड़ का फंड मंजूर करने की अपील की है। केंद्र सरकार ने भी इस आयोजन के लिए 70 सदस्यीय उच्चस्तरीय कमेटी का गठन किया है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।