राजस्थान के जोबनेर में पारा माइनस-3 डिग्री सेल्सियस

25 साल का टूटा रिकॉर्ड

जयपुर। (सच कहूँ न्यूज) गर्मी में कड़ी धूप, लू और गर्म हवा के थपेड़ों के लिए विख्यात राजस्थान में सर्दी के मौसम में बर्फ पड़ रही है। हिल स्टेशन माउंट आबू ही नहीं, राजधानी जयपुर के जोबनेर और शेखावाटी के फतेहपुर सीकर, चूरू और थार के रेगिस्तान में भी शीतलहर चल रही हैं। सर्द हवाएं हाथ-पैर सुन्न कर कंपकंपी छुड़ा रही हैं। रबी के फसली सीजन में खेतों में पाला पड़ रहा है। पेड़-पौधों, तालाब, कुंडों के साथ ही सड़कों और वाहनों पर भी अल सुबह बर्फ जमी नजर आ रही है। जयपुर जिले के जोबनेर में शुक्रवार सुबह न्यूनतम तापमान माइनस -3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जोबनेर के श्री कर्ण नरेंद्र कृषि विश्विद्यालय की मौसम वेधशाला ने पिछले तीन दिन से लगातार तापमान माइनस में रिकॉर्ड किया है। जो पिछले 25 साल में दूसरा रिकॉर्ड है। इससे पहले साल 2021 के दिसंबर में लगातार तीन दिन तक तापमान माइनस में गया था। इस दौरान पारा तो गिरा ही, कोहरे और धुंध का भी असर रहा। सीकर, बीकानेर, बूंदी में 0 डिग्री सेल्सियस और फतेहपुर में 0.7 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड हुआ है।

10 जनवरी तक भंयकर ठंड

  • कोहरे के कारण थमी रफ्तार
  • देरी से चल रही ट्रेनें, यात्री परेशान

चंडीगढ़ (एजेंसी)। राजधानी दिल्ली समेत समूचे उत्तर भारत में कड़के की ठंड जारी है। मौसम केन्द्र के अनुसार अगले 48 घंटों के दौरान अति ठंडा दिन, घना कोहरा तथा कहीं-कहीं शीतलहर का प्रकोप बना रहेगा। उसके बाद कहीं-कहीं बूंदाबांदी और 10 जनवरी तक मौसम खुश्क रहने घना कोहरा रहने के आसार हैं। कोहरा घना होने के कारण हवाई सेवा प्रभावित रही तथा कुछ उड़ानें रद्द करनी पड़ीं। सड़क यातायात सुबह अन्य दिनों की तरह प्रभावित रहा और दोपहर तक वाहन हैडलाइटें जलाकर चलते नजर आए। कम दूरी तथा लंबी दूरी की ट्रेनें देरी से चल रही हैं।

लोगों घंटों स्टेशनों पर कड़ाके की ठंड में इंतजार करना पड़ा, जिससे उन्हें मुश्किल का सामना करना पड़ा। क्षेत्र में नारनौल दो डिग्री तथा बठिंडा तीन डिग्री रहा। अंबाला तथा हिसार चार डिग्री, चंडीगढ पांच डिग्री, करनाल चार डिग्री, रोहतक छह डिग्री और भिवानी पांच डिग्री रहा। अमृतसर, पटियाला पांच डिग्री, लुधियाना तथा मोगा चार डिग्री, गुरदासपुर तीन डिग्री और फतेहगढ़ साहिब का पारा पांच डिग्री सेलसियस रहा।

कानपुर में 24 घंटे में हार्ट अटैक से 22 मौतें

  • पारा गिरने से फट रही दिमाग की नस

कानपुर (एजेंसी)। उत्तर प्रदेश में कानपुर शहर और आस-पास जिलों में तेजी से गिर रहे तापमान के कारण हृदय और मस्तिष्क से जुड़े मरीजों की संख्या में तेजी देखने को मिली। एक दिन में 22 लोगों की जान हार्ट अटैक से गई। वहीं, तीन ऐसे मरीजों की मौत हुई जो ब्रेन स्ट्रोक का शिकार हुए। हृदय रोग संस्थान की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक, दो जनवरी से अब तक 56 लोगों की मौत हार्ट अटैक के कारण हुई है। तापमान में गिरावट का असर उम्रदराज के साथ युवाओं में देखने को मिल रहा है। लक्ष्मीपत सिंहानिया हृदय रोग संस्थान के निदेशक डॉ. विनय कृष्णा ने बताया कि संस्थान में हृदय रोग की समस्या को लेकर 723 मरीज आए। इसमें 41 मरीजों को भर्ती किया गया। हालांकि 15 ऐसे मरीज रहे जिनकी मौत अस्पताल पहुंचने से पहले हो गई। वहीं, सात मरीजों की मौत इलाज के दौरान हुई।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here