कोटा की साध-संगत ने नामचर्चा में डेप्थ मुहीम को दर्शाती बनाई सूंदर रंगोली –

kota-news
  • मैं भी सेवादार बनकर करूंगा सेवा – मुकेश
  • कोटा की गलियों में गूंजा जागो दुनिया दे लोको भजन –

सच कहूँ कोटा , राजस्थान कुलदीप स्वतंत्र

पूज्य गुरु जी द्वारा गाए गए भजन जागो दुनिया दे लोको ने कोटा की गलियों में खूब धूम मचाई । बात हैं कोटा में आयोजित हुई नामचर्चा के प्रचार अभियान के समय की । हैरानी तब हुई जब कोटा की गलियों में भी लोग इस भजन की आवाज से मंत्रमुग्ध हो गए । लाउडस्पीकर के माध्यम से जब इस भजन की आवाज लोगों के कानों में पड़ी तो इस भजन के विषय में लोगों में चर्चाएं शुरू हो गई । लोग आपस में बातें करने लगे कि आखिर इस भजन में ऐसा क्या है जिसको सुनकर लोग नशे जैसी बुराई को त्याग रहे हैं।

गुरु जी द्वारा गाया गया यह भजन अब लोगों की जुबान पर भी चढ़ने लगा है । पूज्य गुरु जी द्वारा गाए गए इस भजन को लोगों ने एक क्रांतिकारी भजन माना है । लोगों ने बताया कि हमने आज तक ऐसा भजन नहीं सुना जो लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बन गया हो और जिसकी आवाज से लोगों ने नशा जैसी भयानक बुराई त्याग दी हो । वही इस भजन के माध्यम से लोग बड़ी संख्या में नशा जैसी भयानक बुराई को त्याग चुके हैं । वही डेप्थ मुहिम के माध्यम से भी पूज्य गुरुजी लाखों लोगों के नशे छुड़वा चुके हैं ।

डेप्थ मुहीम को दर्शाती बनाई सूंदर रंगोली –

पूज्य गुरु जी द्वारा चलाय गए डेप्थ मुहीम के तहत कोटा की साध संगत द्वारा रूहानी नामचर्चा में सूंदर रंगोली बनाई गई। साध-संगत द्वारा लिखा गया डेप्थ पूज्य गुरु जी द्वारा चलाई गई मुहीम को दर्शा रहा था । जिसके माध्यम से नशा से होने वाले नुक्सान के बारे में जागरूक किया गया था और नशा से होने वाली बिमारियों के बारे में भी दर्शाया गया ।

हर किसी ने किया पूज्य गुरु जी का धन्यवाद –

राजस्थान के कोटा में आयोजित नामचर्चा में भारी संख्या में साध संगत पहुंची । नामचर्चा में पहुंचा हर कोई नशा छोड़ने वाला व्यक्ति पूज्य गुरु जी का लाख – लाख धन्यवाद कर रहा था । नामचर्चा में पहुंचे बहुत से लोग खुश नजर आये । आमजन ने सच कहूँ से पूज्य गुरु जी से नाम लेने के बाद बदली हुई जिंदगी के बारे में बताया , प्रस्तुत है – मुख्य अंश –

मैं भी सेवादार बनकर करूंगा सेवा – मुकेश

डी सी एम कलोनी कोटा निवासी मुकेश ने बताया की मुझे नाम लेने के बाद बहुत ख़ुशी महसूस हुई । पूज्य गुरु जी से नाम लेने के बाद मुझे असल जिंदगी जीने का पता चला और आज नामचर्चा सुनने के बाद मुझे महसूस हुआ की मैं भी इस नशा छोड़ो डेप्थ अभियान में शामिल होकर लोगो को नशा छोड़ने के प्रति प्रेरित करूंगा । । शिवापुर निवासी मुकेश ने बताया की नाम लेने के बाद मुझे बहुत सी बरकत मिली है जब से नाम लिया है मेरे अच्छे ही अच्छे काम हो रहे हैं । मैं भी सेवादार बनकर सेवा करुंगा । नाम लेने के बाद मुझे पहले तंदरुस्ती व ताजगी महसूस हुई है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here