पूज्य गुरुजी ने सेवादारों के लिए कही ये बड़ी बात। जल्दी सुने।

Saint Dr. MSG

पूज्य गुरु जी ने सेवादारों को प्रेम निशानियां दी

बरनावा (सच कहूँ न्यूज)। पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने बुधवार सायं यूटयबू चैनल के माध्यम से साध-संगत को दर्शन दिए। सरसा, हिमाचल प्रदेश के आश्रम में सेवादार आए हुए थे। इस अवसर पर पूज्य गुरु जी ने प्रेम निशानियां वितरित की। पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि जो भी सेवादार, यहां पे बैठे है, सामने लाइव भी बैठे है, सबसे पहले उन सबका, सत्संग में पधारने का तहदिल से बहुत-बहुत स्वागत करते हैं, और यहां सेवादार बैठे है, पहले उस परम पिता परमात्मा, शाह सतनाम, शाह मस्तान दाता रहबर, ओम, हरि, गॉड, खुदा, रब्ब के चरण कमलो में आपकी हाजरी लगवाते है। शाह सतनाम जी धाम सरसा हरियाणा, बहुत सेवादार वहां बैठे है। अलग-अलग समितियों के सेवादार है, सबको बहुत आशीर्वाद। शाह सतनाम जी सचखंड धाम चचिया नगरी, हिमाचल प्रदेश, वहां भी बहुत सेवादार बैठे है, बहुत आशीर्वाद और पोंटा साहिब में भी बहुत सेवादार बैठे है, सबको बहुत आशीर्वाद।

पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि सेवादारों को कोई मुकाबला नहीं होता, सेवा जो करता है, सतगुरु मोला के दिल का टुकड़ा, अखियों का तारा, खुशियां लेता है बेइंतहा, मालिक का हमेशा रहते उसे सहारा। धन्य है वो मां-बाप, धन्य है वो परिवार, धन्य है वो कुल, यहां आता है सेवादार, मालिक से प्यार करने वाला और समुंद्रो की समुंद्र खुशियां बढ़ती ही जाएगी, ज्यों-ज्यों सेवा का करता जाएगा एक-एक कदम, एक-एक दिन आप लगाएं, एक-एक मिनट आप लगाते हैं, मालिक उसके बदले में खुशियों से मालामाल लवरेज करते जाएंगे, कोई कमी आने नहीं पाएगी, आशीर्वाद, आशीर्वाद।

बस कुछेक बातें, कोशिश किया करो कम से कम, सेवादार 15 मिनट सुबह-15 मिनट शाम को सुमिरन जरूर किया करो, कोशिश किया करो खाना खाने के बाद एक किलोमीटर चाहे घर में ही घुमना पड़े, दीनता-नम्रता रखा करो, नम्बरो के चक्करों में नहीं पड़ना और दृढ़ यकीन रखना जैसे पहले सेवादारों ने रखा है, कोई ये नहीं कहे कि आपके सेवादार बिकाऊ है तो दृढ़ यकीन रखना। पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि जो राम से प्यार करते हैं और राम से सब कुछ हासिल करते है वो किसी लोभ लालच में आते ही नहीं। कभी भी दुनियां के इशारे पर चलते नहीं, जो राम के इशारे पर चला करते है। जो राम के राश्ते पे चलते है वो कभी राक्षस का रास्ता पकड़ा नहीं करते, कहने को दुनिया कुछ भी कहती रहे वो राम का रास्तो छोड़कर कहीं ओर जाया नहीं करते। आप सेवादार आपके मां-बाप कुल धन्य होती है मालिक सबको खुशियां दे।

रिश्तो पर पूज्य गुरु जी के वचन

पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि रिश्तो में पवित्रता जरूरी है, सेवादारों पति-पत्नी का रिश्ता जायज है उसके प्रति भी आपकी भावना सही होनी चाहिए। इसके अलावा अति पवित्र भावना अपने बहन, भाई, मां, बाप, परिवार के साथ आपको 100 प्रसेंट अमल करना है, ताकि समाज के बाकी लोग आपको फॉलो करे, और देखे कि हां ये लोग इतने रिश्तो के सच्चे है वो भी आपको फॉलो करेंगे हो सकता है कि इसी वजह से वो लोग बुराइयां छोड़ने आ जाए और नशा छोड़ दे और बैठे बिठाएं आपको खुशियां मिल जानी है, और अपने घर में डेरे में आश्रम में जब आप आते है, या आपने उस घर में जिस में आप रहते है, परिवार रहता है, बिल्कुल चकाचक रखा करे, बिल्कुल साफ रखा करे।

कई बार आप लोग कहते हैं कि गुरु जी वैसे भी पहले आपको कई बार बताया, पिता जी आप कैसे दिनचर्या शुरू करते हैं, कर्इं बच्चे कहते है कि उसकी वीडियो भी दिखाओ अब टाइम ही नहीं मिलता वीडियो बनाके दिखाए, लेकिन हकीकत ये ही है सुबह उठते है और सबसे पहला काम होता है कि जिस बिस्तर से उठे है उसकी सलवट निकालना, जो चादर, खेस, दरी जो भी है उसकी सलवट निकाले, हम नकालते है और जो भी चादर ऊपर लेते है, कम्बल ऊपर लेते है या रिजाई जैसे सर्दी ज्यादा आती है, जैसा भी मौसम वैसा कपड़ा ऊपर लेते है सब लोग, हम भी लेते है तो सबसे पहले तय मारते है, सही तरीके से उसको रखते हैं, सलवटे निकालते है और हर चीज अपने हाथों से अपनी करते हैं। तो आपको भी इन चीजों को फॉलो करना चाहिए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here