राजस्थान में अब तक मानसून सीजन की वर्षा से अधिक हुई बरसात

0
185
Rain

जयपुर (एजेंसी)। राजस्थान में इस बार मानसून के मेहरबान रहने से प्रदेश में अब तक पूरे मानसून सीजन में होने वाली सामान्य वर्षा से अधिक बरसात हो चुकी हैं। जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश में अब तक सामान्य वर्षा 518़ 37 मिलीमीटर की तुलना में 563़ 45 मिलीमीटर बारिश हो चुकी हैं जो सामान्य वर्षा से 8़ 7 प्रतिशत अधिक हैं जबकि मानसून सीजन की सामान्य वर्षा का अनुमान 521 मिलीमीटर था। अभी मानसून की विदाई नहीं हुई हैं और प्रदेश में मानसून सीजन की वर्षा से 42़ 45 मिलीमीटर अधिक बारिश हो चुकी है।

प्रदेश के 33 जिलों में अब तक चुरु जिला ही ऐसा हैं जहां असामान्य वर्षा दर्ज की गई। चुरु में अब तक सामान्य वर्षा 313़ 60 मिलीमीटर की जगह 511़ 01 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है जो सामान्य से 63 प्रतिशत अधिक हैं। इसके अलावा दस जिलों में सामान्य से अधिक बरसात हुई जिनमें बारां, बीकानेर, बूंदी, जैसलमेर, झालावाड़, कोटा, नागौर, प्रतापगढ़, सवाईमाधोपुर एवं सीकर शामिल हैं। इन जिलों में सर्वाधिक बरसात बारां जिले में रिकार्ड की गई जहां अब तक सामान्य वर्षा 771़ 20 मिलीमीटर की जगह अब तक 1161़ 88 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है जो सामान्य से 50़ 7 प्रतिशत अधिक हैं।

प्रदेश के गंगानगर एवं सिरोही दो जिले ऐसे हैं जहां अभी भी बरसात की कमी

प्रदेश में अब तक बीस जिलों में सामान्य बरसात हो चुकी है जिनमें अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बाड़मेर, भरतपुर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, दौसा, धौलपुर, गंगानगर, हनुमानगढ़, जयपुर,जालोर, झूंझुनूं, जोधपुर, करौली, पाली, राजसमंद, टोंक एवं उदयपुर शामिल है। राज्य में मानसून सीजन की बरसात से भी अधिक बारिश होने के बावजूद प्रदेश के गंगानगर एवं सिरोही दो जिले ऐसे हैं जहां अभी भी बरसात की कमी बनी हुई हैं। इनमें गंगानगर में अब तक सामान्य वर्षा 201़ 10 मिलीमीटर की जगह 117़ 66 मिलीमीटर बरसात हुई जो सामान्य से 41़ 5 प्रतिशत कम हैं। इसी तरह सिरोही में सामान्य वर्षा 835़ 30 मिलीमीटर की तुलना में 558़ 58 मिलीमीटर बारिश हुई जो सामान्य से 33़ 1 प्रतिशत कम हैं।

प्रदेश के छोटे बड़े 727 बांधों में अब तक 169 लबालब

गत वर्ष इस दौरान 513़ 45 मिलीमीटर बरसात हुई और एक जिले में असामान्य, दस में सामान्य से अधिक तथा तेरह में सामान्य बरसात हुई जबकि नौ जिलों में बरसात की कमी रही थी। विभाग के अनुसार इस बार गत एक जून से अब तक सबसे अधिक 1665 मिलीमीटर बरसात बारां के शाबाद में दर्ज की गई हैं जबकि एक दिन में सर्वाधिक वर्षा गत तीन अगस्त को 380 मिलीमीटर वर्षा सवाईमाधोपुर जिले के देवपुरा में हुई। इस बार मानसून के काफी दिनों तक फीका रहने के बावजूद फिर से सक्रिय होने पर लगातार अच्छी बरसात का दौर जारी रहने से प्रदेश के बांधों में पानी की अच्छी आवक हुई और प्रदेश के छोटे बड़े 727 बांधों में अब तक 169 लबालब हो गए तथा 302 आंशिक रुप से भर गए। हालांकि अभी 234 बांध खाली हैं जबकि 22 की सूचना नहीं है।

राजधानी जयपुर सहित कई जिलों को पेयजल आपूर्ति करने वाले टोंक जिले में स्थित बिसलपुर बांध का जलस्तर भी बढ़कर 311़ 78 आरएल मीटर पहुंच गया। पिछले चौबीस घंटों में बांध में 1977़ 62 क्यूसेक पानी की आवक हुई। इसकी भराव क्षमता 315़ 50 आरएल मीटर हैं। मौसम विभाग के अनुसार 27 सितंबर को अजमेर, टोंक, बूंदी, कोटा, बारां, झालावाड़, भीलवाड़ा, राजसमंद, चित्तौड़गढ, उदयपुर, सिरोही, प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा जिलों एवं 28 सितंबर को बूंदी, कोटा, बारां, झालावाड़ अजमेर, भीलवाड़ा, राजसमंद चितौड़गढ, उदयपुर, सिरोही, प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा जिलों में कहीं कहीं मेघगर्जन एवं बिजली चमकने की संभावना है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।