सच कहूँ एक्सक्लुसिव-एयर इंडिया व हिसार एयरपोर्ट के नाम से फर्जीवाड़ा !

0
425
  • नकली नियुक्ति पत्र जारी कर युवाओं को बना रहे ठगी का शिकार
  • महाराजा अग्रसेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट हिसार पर नियुक्ति के लिए पहुँच रहे युवा

सच कहूँ/संदीप सिंहमार।

हिसार।
वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान देशभर के युवा चाहे बेरोजगारी का दंश झेल रहे हो लेकिन ठगों की ठगी आए दिनों बढ़ती जा रही है। शातिर आॅनलाइन ठगों ने अब भारत देश की एकमात्र सरकारी एविएशन कंपनी एयर इंडिया के नाम पर फेसबुक पर विज्ञापन देकर देश के विभिन्न हवाई अड्डों पर भर्ती के नाम पर देशभर के युवाओं को अपना शिकार बनाना शुरू कर दिया है। बड़े ही शातिराना अंदाज में एयर इंडिया के नाम से पैसेंजर चेकिंग सुपरवाइजर सहित विभिन्न पदों के नियुक्ति पत्र जारी कर निर्माणाधीन महाराजा अग्रसेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर जॉइनिंग के लिए भेज रहे हैं।

देशभर के विभिन्न राज्यों से अब तक हिसार इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर करीब करीब 40 युवक व युवतियां इसी फर्जी नियुक्ति पत्र/एग्रीमेंट से नियुक्ति पाने के लिए आ चुके है। लेकिन ऐसे युवाओं को एयरपोर्ट के मुख्य द्वार से ही वापस भेजा जाता है। ऐसी स्थिति में बेरोजगार युवाओं के सामने आंसू बहाने के अलावा और कोई चारा नहीं बचता।

महम का विशाल भी अपने साथियों सहित फसा चंगुल में

नौकरी पाने की चाह में महम के समीपवर्ती गांव सीसर निवासी विशाल व दो अन्य युवक भी इसी फजीर्वाड़े के फेर में फस चुके हैं। उन्होंने भी सोशल मीडिया फेसबुक के माध्यम से विज्ञापन पर क्लिक करते हुए एयर इंडिया की फर्जी वेबसाइट पर पैसेंजर चेकिंग सुपरवाइजर के लिए आवेदन किया। विशाल ने बताया कि आवेदन करने के बाद उनका आॅनलाइन इंटरव्यू में लिया गया तथा सिक्योरिटी के नाम पर अग्रिम तौर पर 7500 की राशि भी जमा करवाई गई। उसके बाद रजिस्टर्ड ईमेल आईडी पर अंपाठ अप्वाइंटमेंट लेटर जारी करते हुए 27 अगस्त तक महाराजा अग्रसेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर ज्वाइन करने की बात कही। इतना ही नहीं ज्वाईन करने से पहले मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट लेने की भी बात फर्जी नियुक्ति पत्र में कही गई है।

सुलगता सवाल-अभी तक शिकायत क्यों नहीं?

अकेले महाराजा अग्रसेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट हिसार पर एयर इंडिया के नाम से जारी किए गए फर्जी नियुक्ति पत्र से नियुक्ति पाने के लिए करीब 40 युवक आ चुके हैं। लेकिन हर बार उन्हें यह कहकर वापिस भेज दिया जाता है यह नियुक्ति पत्र फर्जी है। एयरपोर्ट अथॉरिटी के संज्ञान में पूरा मामला होने के बावजूद भी इसकी शिकायत पुलिस विभाग एयर इंडिया अथॉरिटी को अब तक क्यों नहीं की गई ?

यह सबसे बड़ा सुलभता हुआ सवाल है? हालांकि महम के सीसर निवासी विशाल जब अपने दो अन्य साथियों के साथ हिसार एयरपोर्ट पर जॉइनिंग के लिए आया तो उसकी मुलाकात एयरपोर्ट पर ही तैनात उसी के गांव के एक पुलिस अधिकारी से भी हुई। उसने भी सिर्फ तीनों युवकों को चाय पिलाते हुए यह कहकर वापस भेज दिया कि आपका नियुक्ति पत्र फर्जी है। लेकिन यह सब सच कहूँ प्रतिनिधि के कैमरे में कैद हो गया।

ट्रेनिंग के नाम पर भी मांगे 3 हजार

इंडिया के नाम से थमाए जा रहे फर्जी नियुक्ति पत्र एग्रीमेंट में भविष्य में होने वाली किसी भी प्रकार की ट्रेनिंग के लिए 3 हजार अग्रिम तौर पर जमा करवाने की बात हुई कहीं गई है। हालांकि ट्रेनिंग पूरी होने 2 साल की संतोषजनक सर्विस होने के बाद जमा कराई गई राशि वापस लौट आने का भी दावा किया गया है।

3 माह के प्रोबेशन पीरियड के बाद जॉब कंफरमेशन का दावा

इंटरव्यू की खानापूर्ति के बाद बेरोजगार युवाओं को जो नियुक्ति पत्र दिए गए हैं उनमें 3 माह के प्रोबेशन पीरियड का भी प्रमुखता से जिक्र किया गया है। कहा गया है कि प्रारंभिक तौर पर आप की नियुक्ति कॉन्ट्रैक्ट बेस पर ही रहेगी लेकिन तीन महा की सर्विस के बाद आपकी जॉब कंफर्म मान ली जाएगी।

35050 तनख्वाह का दिखाया सब्जबाग

आज के दौर में बेरोजगार युवकों को कम मानदेय मिले तो भी काम करने के लिए राजी हो जाते हैं लेकिन इन शातिर ठगों ने तो बेरोजगारों से भद्दा मजाक करते हुए 35050 मासिक सैलरी का सब्जबाग दिखाया। इसके अलावा सभी प्रकार के मेडिकल बेनिफिट ग्रेच्युटी का भी जिक्र किया गया है। पहले विज्ञापन के जरिए आवेदन, फिर इंटरव्यू व उसके बाद अपॉइंटमेंट लेटर जारी करना यही सब बातें रही जिसके कारण युवा भरोसा कर बैठे कि उन्हें महाराजा अग्रसेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट हिसार इस सही रूप से संचालन से पहले ही नौकरी मिल गई। पर नौकरी पाने की चाह में युवा 10 हजार से लेकर 40 हजार तक गवां चुके हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।