चिंता: आतंकी तालिबान के पास कैसे पहुंचे अमेरिकी हथियार ?

0
410
Taliban US Weapons

वाशिंगटन (एजेंसी)। तालिबान ने अफगानिस्तान के लगभग सभी क्षेत्रों पर अपना कब्जा जमा लिया है। तालिबान अब सरकार बनाने के लिए अग्रसर है। वहीं पूरी दुनिया में चर्चा हो रही है कि तालिबान के पास अमेरिकी हथियार कैसे पहुंचे है? इस बीच व्हाइट हाउस ने भी माना है कि तालिबान ने बड़ी संख्या में अमेरिकी हथियार इकट्ठा कर लिए है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान चरमपंथी उन हथियारों और सैन्य गाड़ियों के साथ नजर आ रहे हैं जो अमेरिकी सैनिक इस्तेमाल करते थे या जो अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों को दिए गए थे। इनमें कंधार एयरपोर्ट पर मौजूद अत्याधुनिक यूएच-60 ब्लैक हेलिकॉप्टर और अन्य उपकरण भी शामिल हैं। अमेरिका के राष्टÑीय सुरक्षा सलाहकार जेक ने कहा कि सभी सैन्य सामान कहां गए ये अभी तक स्पष्ट नहीं है। लेकिन इसका एक बड़ा हिस्सा तालिबान के हाथ लग गया है।

अमरुल्ला सालेह ने स्वयं को अफगानिस्तान का कार्यवाहक राष्ट्रपति घोषित किया

अफगानिस्तान में नित नयी अनिश्चितताओं के बीच पहले उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने तालिबान के अधिग्रहण के दो दिन बाद स्वयं को देश का कार्यवाहक राष्ट्रपति घोषित किया। सालेह फिलहाल उत्तरपूर्वी अफगानिस्तान के पंजशीर प्रांत में है, जिसे तालिबान ने अभी तक अपने कब्जे में नहीं लिया है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के संविधान के अनुसार राष्ट्रपति की अनुपस्थिति में प्रथम उपराष्ट्रपति कार्यवाहक राष्ट्रपति बन जाता है। चूंकि वह अभी अफगानिस्तान में ही हैं, इसलिए वह वैध कार्यवाहक राष्ट्रपति हैं।

तालिबान की खिलाफत में मुखर रहे सालेह ने कहा कि वह सभी नेताओं से अपने प्रति समर्थन हासिल करने के लिए संपर्क कर रहे हैं। सालेह ने ट्वीट किया,‘अफगानिस्तान के संविधान के अनुसार राष्ट्रपति की अनुपस्थिति, पलायन, इस्तीफे अथवा मृत्यु की स्थिति में प्रथम उपराष्ट्रपति कार्यवाहक राष्ट्रपति बन जाता है। मैं वर्तमान में अपने देश में ही हूं और वैध कार्यवाहक राष्ट्रपति हूं। मैं सभी नेताओं से उनका समर्थन और आम सहमति हासिल करने के लिए संपर्क कर रहा हूं।

काबुल हवाई अड्डा शनिवार को नागरिकों के लिए खुलेगा

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा शनिवार को नागरिकों के लिए खुलेगा। अल जजीरा ने हवाई अड्डा सुरक्षा सेवा सूत्रों के हवाले से इस आशय की जानकारी दी। इससे पहले दिन में तालिबान समूह ने काबुल हवाई अड्डे से उड़ान भरने वाली सभी विमानों के परिचालन को स्थगित करने की घोषणा की थी।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।