अचिंता श्युली ने जीता स्वर्ण पदक, भारत को दिलाया छठा पदक

बर्मिंघम (एजेंसी)। भारत के युवा भारोत्तोलक अचिंता श्युली ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 (Achinta Sheuli CWG 2022 ) में भारत को छठा पदक दिलाते हुए रविवार को पुरुष 73 किग्रा भारोत्तोलन में स्वर्ण जीता। यह बर्मिंघम 2022 में भारत का तीसरा स्वर्ण पदक है। 20 वर्षीय अचिंता ने स्नैच में 143 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 170 किग्रा सहित कुल 313 किग्रा के स्कोर के साथ पहला स्थान प्राप्त किया। अचिंता ने पहले स्नैच राउंड में 140 किग्रा के प्रयास के साथ राष्ट्रमंडल रिकॉर्ड तोड़ा, लेकिन वह इतने पर नहीं रुके और अपने ही प्रदर्शन को बेहतर करते हुए 143 किग्रा के साथ नया राष्ट्रमंडल रिकॉर्ड स्थापित किया।

https://twitter.com/Media_SAI/status/1553832101212221440?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1553832101212221440%7Ctwgr%5E08ca798a33d808c6b4cc073806a882d1a9d250df%7Ctwcon%5Es1_&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.aajtak.in%2Fsports%2Fcommonwealth-games%2Fstory%2Fachinta-sheuli-weightlifting-commonwealth-games-2022-team-india-gold-medal-tspo-1509963-2022-08-01

भारत के सभी पदक भारोत्तोलन में आये

राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप 2021 के विजेता अचिंता ने क्लीन एंड जर्क में अपने वर्चस्व पर मुहर लगाते हुए 166 किलो भार उठाया। इस प्रयास के साथ उनका कुल स्कोर 309 हो गया जो राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड था, लेकिन अचिंता ने स्नैच की तरह ही क्लीन एंड जर्क में भी अपने प्रयास को बेहतर करते हुए 170 किग्रा भार उठाया। अचिंत को टक्कर देते हुए मलेशिया के मोहम्मद एरी हिदायत ने स्नैच में 138 किग्रा का सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया था, और स्वर्ण जीतने के लिये उन्हें क्लीन एंड जर्क में 176 किलो का विशाल आंकड़ा छूना था। हिदायत ने 176 का प्रयास भी किया, लेकिन वह असफल रहे। अंतत: हिदायत ने 303 किलोग्राम की लिफ्ट के साथ रजत पदक से संतोष किया, जबकि भारत के अचिंता श्युली ने 313 किग्रा की लिफ्ट के साथ स्वर्ण पदक हासिल किया। भारत अब तक राष्ट्रमंडल खेल 2022 में तीन स्वर्ण, दो रजत और एक कांस्य सहित छह पदक जीत चुका है। भारत के सभी पदक भारोत्तोलन में आये हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here