पंजाब में 25 हजार एकड़ जमीन पर नेताओं का कब्जा, शिकंजा कसेंगे सीएम मान

CM Bhagwant Mann sachkahoon
  • रूसूखदार लोगों पर शिकंजा कसेंगे सीएम मान, अमरेन्द्र सिंह और सुखबीर बादल राडार पर
  • 40 से 50 हजार करोड़ रुपए कीमत, 31 मई से शुरू होगी कार्रवाई
  • अवैध कब्जे छुड़वाने के लिए खुद आगे आए भगवंत मान

अशवनी चावला
चंडीगढ़। पंजाब में अब मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जा करने वाले रसूखदार लोगों पर कार्रवाई करने की तैयारी कर ली है। उक्त लोगों ने पिछले 15-20 वर्षों से अवैध तरीके से शहरी क्षेत्रों के अधीन पंचायती जमीनों पर कब्जा जमा रखा है। उक्त रसूखदार लोगों की बकायदा सूची तैयार की जा रही है, जिसमें अमरेन्द्र सिंह और सुखबीर बादल जैसे नेताओं के नाम भी शामिल हैं। विभाग द्वारा यह पूरा रिकॉर्ड इक्ट्ठा किया जा रहा है, जहां दोनों नेताओं का पंचायती जमीनों पर कब्जा है। इसके अलावा तीन दर्जन के करीब राजनेता और उनके साथियों की भी सूची तैयार हो रही है, जिन्होंने 20 हजार से लेकर 25 हजार एकड़ के करीब पंचायती जमीन पर कब्जा किया हुआ है। उक्त जमीन की कीमत इस समय 40 से 50 हजार करोड़ रुपए बताई जा रही है। भगवंत मान ने इस मामले में 31 मई तक का इंतजार किया है, जिसके बाद मान द्वारा कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

जानकारी के अनुसार पंजाब की सत्ता में भगवंत मान की सरकार आने के बाद पंचायती जमीनों से अवैध कब्जे छुड़वाने की मुहिम शुरू की हुई है। इस समय पंजाब में 50 हजार एकड़ के करीब पंचायती जमीनों पर कब्जा किया हुआ है, जिसमें से लगभग 1050 एकड़ जमीन से कब्जा छुड़वा लिया गया है तो बाकी कब्जाधारियों से कब्जा वापिस लेने की प्रक्रिया शुरू की हुई है।

इन कब्जाधारियों में बड़ी संख्या में राजनेता नेता भी शामिल हैं। जिनकी तरफ से 25 हजार एकड़ जमीन पर कब्जा किया हुआ है। यह 25 हजार एकड़ जमीन भी ग्रामीण क्षेत्र में नहीं बल्कि मोहाली, जालंधर, अमृतसर और लुधियाना जैसे शहरों के साथ लगती जमीन है, जिसकी प्रति एकड़ कीमत ही डेढ़ से 2 करोड़ रुपए तक है। पंजाब में अब तक किसी भी राजनेताओं द्वारा अवैध कब्जे वाली जमीन को वापिस नहीं किया गया है, जिस कारण अब मान द्वारा खुद इस मामले में कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है।

मुख्यमंत्री मान खुद लिस्ट तैयार करवा रहे हैं, जिसमें अमरिन्दर सिंह और सुखबीर बादल का नाम भी शामिल है। इन दोनों बड़े नेताओं द्वारा पंचायती जमीन पर किये गए जायज या फिर नाजायज कब्जे की लिस्ट तैयार हो रही है। जो जमीन जायज तरीके से ली गई है, उसकी सारी प्रक्रिया चैक की जाएगी और जो जमीन नाजायज तरीके से ली गई होगी, उसे सख़्त कार्रवाई करने वाले कागजों में शामिल कर लिया जाएगा। इस कार्रवाई के लिए भगवंत मान 31 मई तक का ही इंतजार करेंगे।

रोजाना शाम 7 बजे भगवंत मान ले रहे हैं रिपोर्ट

मुख्यमंत्री भगवंत मान प्रतिदिन शाम को 7 बजे अवैध कब्जों की रिपोर्ट ले रहे हैं। जिसमें यह देखा जाता है कि पूरे दिन में कितनी जमीन पर कब्जा छुड़वाया गया है और कितनी जमीन पर कब्जा छुड़वाने संबंधी कार्रवाई नहीं हो पाई है। जिसके बाद अगले आदेश जारी किये जा रहे हैं, जिससे बाकी रहती जमीन को जल्द ही छुड़वाया जा सके। ग्रामीण विकास और पंचायत विकास के डायरेक्टर की ड्यूटी लगी है कि वह प्रतिदिन शाम 7बजे तक अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे।

राजनेताओं को पसीना आने का समय आ गया है: धालीवाल

ग्रामीण विकास और पंचायत मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने कहा कि राजनैताओं को पसीना आने का समय अब आ गया है। राजनीति में ईमानदारी के साथ काम करने की जगह पर कुछ राजनेताओं ने अवैध कब्जा करने या फिर अपने साथियों को करवाने का ही काम पकड़ लिया था। अब इन सभी राजनेताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और खुद भगवंत मान इस संबंधी प्रतिदिन रिपोर्ट ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि 31 मई के बाद ऐसी कार्रवाई होगी कि हर कोई देख कर ही हैरान हो जाएगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here