डेरा श्रद्धालुओं ने बुजुर्ग दम्पति को बनाकर दिया आशियाना

0
285
Welfare-Work

 गांव में पहला और ब्लॉक तपा-भदौड़ में 69वां बनाया मकान : जिम्मेवार

(Welfare Work)

सच कहूँ/सुरेन्द्र मित्तल तपा। आज के दौर में जहां हाथ को हाथ खाए जा रहा है, वहीं डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत मानवता कार्यों में तन, मन, धन से जुटी हुई है। इसी क्रम में पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की रहनुमाई में चलाए जा रहे मानवता भलाई के 135 कार्यों के तहत ब्लाक तपा-भदौड़ की साध-संगत ने डेरा सच्चा सौदा के पवित्र स्थापना माह और जाम-ए- इन्सां गुरू का माह की खुशी में गांव दराज-दराका में एक जरूरतमंद बुजुर्ग दम्पति को मकान बना कर दिया।

चलने-फिरने में असमर्थ हैं बुजुर्ग दम्पति

ब्लॉक के जिम्मेवारों ने बताया कि बुजुर्ग बारा सिंह और नसीब कौर ने साध-संगत को अपने पुराने मकान की दयनीय हालत के बारे में बताया और मकान बनाकर देने की अपील की थी। बुजुर्ग दम्पति ने बताया कि बरसात के समय पानी उनके कमरों में अंदर घुस जाता है, वहीं आम दिनों में भी उनको भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। दूसरा वे बुजुर्ग अवस्था में होने के कारण चलने-फिरने में असमर्थ हैं और वह अपना मकान ऊंचा उठा सकने या नया बनाने में असमर्थ हैं। बुजुर्ग दम्पति की अपील पर समूह जिम्मेवारों ने विचार करने के बाद समूह समिति की ओर से मकान बना कर देने का फैसला लिया गया। जिसके अंतर्गत साध-संगत ने बुजुर्ग दम्पति को मकान में दो कमरे और रसोई बना कर दी और रंग-रोगन उपरांत उक्त मकान बुजुर्ग दम्पति को सौंप दिया।

ब्लॉक जिम्मेवारों मुताबिक गांव दराज –

दराका में यह पहला और ब्लाक में 69वां मकान बनाया गया है, जिसमें मिस्त्री गुरमेल सिंह इन्सां के नेतृत्व में 10 मिस्त्री भाईयों व ब्लॉक के अलग-अलग गांवों में से आए करीब 250 से अधिक सेवादार बहन- भाईयों ने तन, मन, धन से सेवा निभाई। इस मौके पर भंगीदास तरसेम सिंह इन्सां, 15 मैंबर जगतार सिंह बल्ला इन्सां, भोला सिंह इन्सां, शाम लाल इन्सां, गुरतेज सिंह इन्सां, ब्लॉक भंगीदास अशोक इन्सां, ग्यान सिंह इन्सां, बलदेव इन्सां, पेंटर लवप्रीत, राजिन्दर सिंह, मलकीत सिंह प्रेम सिंह इन्सां, हाकम सिंह इन्सां आदि उपस्थित थे।

फरिश्तों से कम नहीं डेरा श्रद्धालु : सरपंच

गांव के सरपंच बलविन्द्र सिंह ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत द्वारा किए जा रहे कार्यांे बारे उन्होंने सिर्फ सुना ही था, लेकिन आज आंखों से देखकर यकीन हो गया कि इस दुनिया पर फरिश्ते भी हैं, जो डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुओं के रूप में इस धरती पर मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि सेवादारों का ज़ज्बा काबिले तारीफ है। उपरांत सरपंच बलविन्द्र सिंह के नेतृत्व में समूह ग्राम पंचायत ने साध-संगत जिंम्मेवारों को उक्त भलाई कार्य के लिए सम्मान चिह्न देकर विशेष के तौर पर सम्मानित किया। इस मौके उनके साथ गुरदेव सिंह, कुंडा सिंह, सुलक्खण सिंह और सुखदेव सिंह (सभी पंच) भी उपस्थित थे।

रहती जिंदगी सुख से बीतेगी : बुजुर्ग दंपत्ति

बारा सिंह और नसीब कौर ने समूह साध-संगत का तहेदिल से धन्यवाद किया और भावुक होते कहा कि इस उम्र में उन्होंने सोचा भी नहीं था कि वह अपने खस्ताहाल हो चुके घर को नया बनता देख सकेंगे। परंतु डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुुओं ने उनकी रहती जिंदगी सुविधाजनक कर दी है और वह आसानी से बाकी जीवन बिता सकेंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।