टोक्यो ओलंपिक: हॉकी खिलाड़ियों के प्रदर्शन ने हार के बावजूद उम्मीदों को किया बुलंद

0
392

भारत को अपने खिलाड़ियों पर गर्व है: मोदी

टोक्यो (एजेंसी)। भारतीय पुरुष हॉकी टीम का टोक्यो ओलम्पिक में शानदार अभियान मंगलवार को मौजूदा विश्व चैंपियन बेल्जियम के हाथों पहले सेमीफाइनल में 2-5 की हार के साथ थम गया और इस हार के बाद भारतीय टीम अब कांस्य पदक के लिए खेलेगी। भारत के लिए दो गोल हरमनप्रीत सिंह ने सातवें और मनदीप सिंह ने नौंवें मिनट में किये। बेल्जियम के लिए एलेक्जेंडर हेंड्रिक्स ने 19 वें, 49 वें और 53 वें मिनट में गोल कर अपनी हैट्रिक पूरी की। बेल्जियम ने इस जीत के साथ फ़ाइनल में जगह बना ली जहां उसका मुकाबला ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा।

भारत की 41 साल के लम्बे अंतराल के बाद पहली बार ओलंपिक फाइनल में खेलने की उम्मीदें पहले सेमीफाइनल मुकाबले में मौजूदा विश्व चैंपियन बेल्जियम से हारने के बाद टूट गईं। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के पास इस हार के बाद हालांकि अभी भी कांस्य पदक जीतने का मौका है, जिसके लिए उसे गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया या जर्मनी के साथ मशक्कत करनी होगी। बेल्जियम की बात करें तो एलेक्जेंडर हेंड्रिक्स की गोल हैट्रिक और लोइक लुयार्ट और जॉन-जॉन डोहमेन के गोल की बदौलत वह फाइनल में पहुंचने में कामयाब हुआ। हेंड्रिक्स ने 19वें, 49वें और 53वें, लोइक ने दूसरे और डोहमेन ने 60वें मिनट में गोल दागा। वहीं भारत के लिए हरमनप्रीत सिंह ने सातवें और मंदीप सिंह ने नौंवे मिनट में गोल किया।

दोनों टीमों ने मैच के पहले क्वार्टर में धमाकेदार शुरुआत की, लेकिन लोइक लुयार्ट के फ्लिक के जरिए दूसरे ही मिनट में गोल से बेल्जियम को मिली बढ़त से भारतीय अटैकर्स शुरुआत में ही दबाव में आ गए, हालांकि भारत को इसका जवाब देने में ज्यादा देर नहीं लगी और सातवें मिनट ने भारत ने एक के बाद एक पेनल्टी कॉर्नर लिए, जिसका फायदा उठाते हुए हरमनप्रीत ने शानदार ड्रैगफ्लिक के जरिए गेंद को गोल पोस्ट में भेज दिया और टीम को 1-1 से बराबरी पर खड़ा कर दिया। टोक्यो 2020 में यह उनका पांचवां गोल रहा।

फिर नौंवे मिनट में भारत ने एक गोल करके 2-1 की बढ़त बना ली। अमित रोहिदास की सहायता से मंदीप सिंह ने डी के ऊपर से एक टोमहॉक मार कर गोल दागा, हालांकि 19वें मिनट में बेल्जियम के अटैकर हेंड्रिक्स ने मैच का पहला गोल करके टीम की 2-2 की बराबरी कराई और पहला हाफ इसी स्कोर के साथ समाप्त हुआ। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि हार और जीत जीवन का हिस्सा है और देश को अपने खिलाड़ियों पर गर्व है। प्रधानमंत्री ने ओलंपिक में भारतीय हॉकी टीम को सेमीफाइनल मुकाबले में ब्राजील के साथ रोमांचक और कड़े संघर्ष वाले मैच ने मिली हार के बाद यह बात कही। मोदी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, ‘हार और जीत जीवन का हिस्सा होती है।

हमारी हॉकी टीम ने ओलंपिक में अपना अच्छा प्रदर्शन किया और किसी बात का महत्व है। टीम को उसके अगले मैच के लिए शुभकामनाएं। भारत को अपने खिलाड़ियों पर गर्व है। इससे पहले मोदी ने ट्वीट कर कहा था कि वह ब्राजील के साथ भारतीय टीम के हॉकी के सेमीफाइनल मैच को देख रहे हैं। उल्लेखनीय है कि जापान के टोक्यो में ओलंपिक में भारतीय टीम का ब्राजील से हॉकी सेमीफाइनल में मुकाबला था जिसमें उसे हार का सामना करना पड़ा।

भारत में हाकी का भविष्य उज्ज्वल : कांग्रेस

कांग्रेस ने कहा है कि भारतीय हॉकी टीम ओलंपिक के सेमीफाइनल में हार भले ही गई है लेकिन हमारे खिलाड़ियों ने जिस उत्साह के साथ प्रदर्शन किया है उससे साफ है कि भारत में हाकी का भविष्य उज्ज्वल है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि पहले हाफ में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन जबरदस्त रहा है हमारे खिलाड़ियों के इस खेल से स्पष्ट होता है कि भारत में हॉकी का भविष्य बहुत अच्छा है। उन्होंने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन उत्साहजनक रहा है और उनका उम्दा खेल साबित करता है कि अगले ओलंपिक में स्वर्ण पदक हमारा है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।