आज भी ईमानदारी को जिंदा रखे हुए हैं, डेरा अनुयायी अशोक इन्सां…

0
442
Honesty

 असली मालिक को लौटाया खोया हुआ कीमती मोबाईल और पर्स

सच कहूँ/तरसेम सैनी,शामबीर
रतिया। आधुनिकता के दौर में जहां लोग मोह-माया और स्वार्थ से वशीभूत होकर अपनों के साथ ही धोखाधड़ी से नहीं चूकते। वही डेरा सच्चा सौदा सरसा के अनुयायी ईमानदारी की जिन्दा मिसाल बने हुए है। बुधवार को अशोक इन्सां ने ईमानदारी का परिचय देते हुए इस बात को साबित कर दिया कि इस घारे कलियुग में भी ईमानदारी जिंदा है। मिली जानकारी अनुसार डेरा सच्चा सौदा रतिया की कंटीन पर एक व्यक्ति कुछ जरूरत का सामान लेने के लिए आया था परन्तु उसका मोबाईल, पर्स आदि कही गुम हो गया।

वही रतिया कंटीन में सेवा कर रहे अशोक इन्सां को मोबाइल व नोटों, कागजात से भरा पर्स मिला। जिस पर अशोक इन्सां ने अपने स्तर पर उक्त मालिक की पड़ताल की तो उसमें कुलविन्द्र सिंह नामक व्यक्ति के कागजात निकले जिस पर अशोक इन्सां उक्त सामान को उसके असली मालिक को लौटा दिया। वही कुलविन्द्र सिंह ने बताया कि उसका मोबाइल व पर्स कही गुम हो गया जोकि डेरा सच्चा सौदा के सेवादार अशोक इन्सां को मिल गया था जिन्होंने उसे ससम्मान वापिस लोटा दिया। कुलविन्द्र सिंह ने डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां तथा सेवादार अशोक इन्सां का तेहदिल से धन्यवाद किया। यहां आपको बता दें की डेरा सच्चा सौदा सरसा की शाह सतनाम सिंह जी ग्रीन एस वैल्फेयर फोर्स विंग के सेवादार अशोक इन्सां जहां सेवा कार्याें में अग्रणी रहते है, वही अशोक इन्सां ने पूज्य गुरु जी के पावन वचनों पर चलते हुए किसी जरूरतमंद को अपना एक गुर्दा नि:शुल्क दान किया हुआ है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlinked in , YouTube  पर फॉलो करें।