खेलो इंडिया यूथ गेम्स: 2021 पंचकूला बना लोगों की पहली पंसद

Khelo India 2022

 मुख्यमंत्री मनोहर लाल स्वयं तीन बार पहुंचे खेल स्टेडियम

चंडीगढ़ (एम के शायना)।  खिलाड़ियों के अभिभावकों के अलावा अन्य लोग भी पंचकूला पहुंच रहे हैं। अतरराष्ट्रीय मानदंडों के अनुरूप खेलों के लिए तैयार किया गया ये स्टेडियम लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है। खेलों में भाग लेने के लिए 36 राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों के स्कूली बच्चों के साथ आए कोच व अन्य स्पोर्टिंग स्टाफ के साथ-साथ भारतीय खेल प्राधिकरण व विभिन्न खेल फेडरेशनों का तकनीकी स्टाफ व खेल विशेषज्ञ स्टेडियम में हो रही हर प्रतियोगिता पर नजर बनाए हुए हैं।

खेलो इंडिया का लक्ष्य भविष्य के लिए भारतीय टीम के खिलाड़ी तैयार करना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के फिट इंडिया मूवमेंट के विजन को मूर्त रूप देने के लिए विशेषज्ञों द्वारा स्कूली बच्चों के लिए खेलो इंडिया यूथ गेम्स तथा कॉलेज व विश्वविद्यालयों के लिए इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स के लिए तैयार की गई रूपरेखा का मुख्य लक्ष्य भावी भारतीय टीमों के लिए खिलाड़ियों की पहचान करना है। वर्ष 2018 से दिल्ली से आरंभ किए गए खेलो इंडिया यूथ गेम्स के प्रति हर वर्ष खिलाड़ियों का रूझान बढ़ता ही जा रहा है।

अब तक दिल्ली के बाद पुणे व गुवहाटी में आयोजित खेलो इंडिया में भाग लेने वाले खिला़िड़यो की संख्या की तुलना में अब हरियाणा के पंचकूला में आयोजित हो रहे खेलो इंडिया में खिलाड़ियों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। दिल्ली में लगभग 2500 खिलाड़ियों ने भाग लिया था जबकि अब पंचकूला में आयोजित खेलो इंडिया में 8000 खिलाड़ियों ने भाग लिया है। इसी प्रकार, इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में भी देशभर के 208 विश्वविद्यालयों के 3900 से अधिक खिलाड़ियों ने भाग लिया था। दोनों ही गेम्स के आयोजन का मुख्य लक्ष्य खेल फेडरेशनों को सक्रिय करना और विद्यार्थी काल से ही खिलाड़ियों को खेल के प्रति प्रेरित करना है।

हर खिलाड़ी की इच्छा कि उसके राज्य का खेल मंत्री व खेल सचिव पहुंचे पंचकूला

खेलो इंडिया में खेल रहे हर खिलाड़ी की इच्छा है कि उसका खेल देखने के लिए उसके राज्य का खेल मंत्री व खेल सचिव पंचकूला पहुंचे ताकि उनकी हौसला अफजाई करने के साथ-साथ वे यहां पर उपलब्ध खेल इनफ्रास्टक्चर की जानकारी भी ले सकें और संभव हो तो अपने राज्य में भी ऐसा ही इन्फ्रास्टक्चर तैयार करने की पहल करें।

राजस्थान के नेता भी पहुंचे हैं स्टेडियम में दो बार

पंजाब के राज्यपाल एवं केन्द्र शासित प्रदेश चण्डीगढ़ के प्रशासक श्री बनवारी लाल पुरोहित, जो मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले हैं, जहां कल लगभग दो घंटे स्टेडियम में रहे, वहीं दूसरी ओर केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शखावत आज मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ स्टेडियम पहुंचे। उन्होंने आज से आरंभ हुए हैंडबाल व बॉस्केट बाल प्रतियोगिता व पहली बार खेलो इंडिया में शामिल मलखंभ के खिलाड़ियों के प्रदर्शन को देख कर खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई की। दोनों की दिन राजस्थान के खिलाड़ी स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहे थे। राज्यस्थान मूल के दोनों की नेताओं का मत था कि अन्य राज्यों को हरियाणा से प्रेरणा लेनी चाहिए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here