मानवता को समर्पित मेरे सतगुरु तुझे सलाम

Ram Rahim

(सच कहूँ/तिलकराज इन्सां)। सच्चे रूहानी रहबर पूज्य गुुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने सुनारिया से आकर तीसरे दिन मानवता भलाई कार्यों द्वारा जिस तरह सामाजिक उत्साह व भाईचारक सांझ की मजबूती को प्रोत्साहन दिया है, वह रूहानियत व समाज सेवा के इतिहास में एक बड़ी मिसाल है। भले ही सफाई महा अभियान हरियाणा की साध-संगत द्वारा शुरू किया गया था लेकिन पूज्य गुरु जी ने इस अभियान में जुटे सेवादारों का हौंसला जिस जज्बे व समर्पण भावना के साथ बढ़ाया, उसे हर कोई सैल्यूट कर रहे है। पूज्य गुरु जी करीब सवा 10 बजे बरनावा स्थित आश्रम में स्टेज पर विराजमान हुए व करीब शाम साढ़े 5 बजे तक करीब 7 घंटे लगातार आॅनलाईन सेवादारों का हौंसला बढ़ाते रहे व गणमान्यजनों को गंदगी मुक्त व नशा मुक्त समाज की प्रेरणा भी देते रहे। पूज्य गुुुरु जी ने सफाई अभियान के समय अपने आराम व खाने-पीने की भी बिल्कुल परवाह नहीं की।

यह भी पढ़ें:– धरत ते आए परवर दिगार…

आप जी ने सफाई महा अभियान की समाप्ति पर साध-संगत के साथ ही लंगर ग्रहण किया। आप जी के पावन मुखारबिंद से ‘आशीर्वाद, शाबाश! बेटा’ के बोल सुनकर सेवादारों के हौसले आसमान छू उठे और सेवादारों में बिजली सी फुर्ती आ गई और शुरू हो गया, गांवों-शहरों से कूड़ा एकत्रित होना। देखते ही देखते हजारों टन कूड़ा एकत्रित कर ट्रॉलियों में डाला जाने लगा। पूज्य गुरु जी आॅनलाईन स्वच्छता की सेवा के दृश्यों को सुबह से शाम तक निहारते रहे। आप जी सेवादारों की भरपूर प्रशंसा करते रहे।

इस दौरान पूज्य गुरु जी ने सफाई अभियान वाली जगहों पर पहुंचे जन प्रतिनिधियों-राजनेताओं, विधायकों, स्थानीय निकायों के पदाधिकारियों, पार्षदों, पंच-सरपंचों से बात की व उन्हें स्वच्छता का आह्वान किया। आप जी ने इन सभी गणमान्यजनों को गांवों-शहरों को साफ व नशा रहित रखने का संदेश दिया। सभी जन प्रतिनिधियों व गणमान्यजनों ने पूज्य गुरू जी से मिलकर साफ-सफाई रखने व नशे को खत्म करने वादा भी किया।

इस दौरान पूज्य गुुुरु जी से हर धर्म, जाति, भाषा के लोगों ने बात की और आप जी ने किसी के साथ पंजाबी, किसी के साथ हरियाणवी व किसी के साथ बागड़ी भाषा में बात की। यह दृश्य अनेकता में एकता व सद्भावना का संदेश दे रहा था। एक बात साफ झलक रही थी कि सभी लोग सफाई, नेकी, तंदरूस्ती, प्यार व भाईचारे को चाहते हैं। सफाई अभियान के दौरान एक और बात प्रेरणादायक नजर आई कि पूज्य गुरू जी ने स्थानीय निकाय, पंचायती संस्थाओं की महिला पदाधिकारियों के साथ बात की, पूज्य गुरु जी ने इन सभी की भरपूर प्रशंसा की, जो पुरुष प्रधान समाज में आगे बढ़कर समाज की सेवा कर रही हैं।

पूज्य गुरु जी लगातार 7 घंटे के करीब स्टेज पर विराजमान रहे व लगातार सेवादारों की हौंसला अफजाई करते रहे। पूज्य गुरु जी का समाज के लिए सेवादारों को उत्साहित करना देश व मानवता के लिए बड़ा परोपकार है। पूज्य गुरु जी जिस रफ्तार से लोगों के साथ बात कर रहे थे, वह तरीका भी बहुत ही निराला था।

आप जी ने एक सैकेंड भी व्यर्थ नहीं जाने दिया। अगर किसी से बात करते आॅनलाइन संपर्क टूट जाता तब आप जी किसी दूसरे (जो कनैक्ट होता) से बातचीत शुरू कर देते। फिर डिस्कनैक्ट व्यक्ति जब दोबारा कनैक्ट हो जाता तब आप जी जल्दी से उसकी अधूरी बात को पूरी कर देते। एक ही समय में पूरे राज्य के हजारों जगहों पर चल रहे सफाई महा अभियान कार्य को देखते रहना व साथ-साथ गणमान्यजनों को समाज सेवा के लिए प्रेरणा देना महानतम कार्य है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here