सीआईडी में युवाओं को नौकरी का झांसा देकर लाखों की ठगी करने के आरोप में शातिर युवती गिरफ्तार

0
565
Arrested

श्रीगंगानगर (सच कहूँ न्यूज)। रामसिंहपुर थाना पुलिस ने युवाओं को सीआईडी में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाखों की ठगी करने के आरोप में एक शातिर युवती को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि लगभग तीन महीने पहले चक 48-जीबी के निरवैलसिंह कंबोजसिख द्वारा दर्ज करवाए गए धोखाधड़ी वह जालसाजी के मुकदमे में बिंदू (30) निवासी चक 59 जीबी (लालगढ़) को गिरफ्तार किया गया है। (Arrested) निरवैलसिंह ने उसके पुत्र सहित 4-5 युवाओं को सीआईडी में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लगभग 2 लाख ठग लेने का आरोप लगाया था।जांच अधिकारी हवलदार राजेंद्रप्रसाद ने बताया कि अपने विरुद्ध मुकदमा दर्ज होने की भनक लगने पर बिंदू गायब हो गई।

उसने मोबाइल फोन के नंबर बदल लिए। लगभग 2 महीने के अथक प्रयास के पश्चात विगत दिवस उसके अपने ही पीहर गांव लालगढ़ में होने का पता चला तो काबू कर लिया गया। परिवादी के पुत्र को नौकरी की एवज में बिंदू ने 2019 में 70 हजार रुपए नगद ले लिए। बाद में वह और भी रकम ले जाती रही। उसने 14 हजार रुपए संगरिया (हनुमानगढ़) निवासी किसी विनोद नामक व्यक्ति के खाते में भी जमा करवाए। निर्मलसिंह के पुत्र के अलावा चार-पांच अन्य युवकों को भी सीआईडी में नौकरी का झांसा दिया।उनसे भी रकम लेने की बात सामने आई है,लेकिन इनमें से कोई युवक थाने में रिपोर्ट देने नहीं आया।जांच अधिकारी के मुताबिक युवकों को बिंदू ने पिछले वर्ष कुछ दिन तक सूरतगढ़ में एक पीजी हॉस्टल में सीआईडी की ट्रेनिंग करवाने का झांसा देकर रखा।

फिर लॉक डाउन हो जाने पर सबको बाद में आने का कहकर भेज दिया और खुद गायब हो गई। पदमपुर थाना में भी कुछ दिन पहले बिंदू की इसी प्रकार की झांसेबाजी का शिकार हुए कुछ युवकों ने परिवाद दिया था। इस पर अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। पुलिस दोनों पक्षों में राजीनामा करवा कर ठगी गई राशि बिंदू से वापस करवाने की कोशिश करती रही।उधर, निरवैलसिंह ने बिंदू के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करवा दिया। पुलिस सूत्रों के अनुसार बिंदू के खिलाफ सूरतगढ़ शहर थाना में भी एक व्यक्ति ने धन ऐंठने के आरोप में मुकदमा दर्ज करवाया था, जिसमें वह जमानत पर रिहा है। रामसिंहपुर थाने में मुकदमा दर्ज होने का पता चलने पर गायब हुई बिंदू बीकानेर जिले में श्रीकोलायत थाना क्षेत्र में हाईवे पर टोल नाके पर कंप्यूटर आॅपरेटर के तौर पर काम करने लगी।

यह पता चलते ही पुलिस ने टोल नाका पर दबिश दी लेकिन बिंदू वहां से गायब हो गई। वह अपने गांव आ गई। पुलिस के मुताबिक बिंदू की शादी अनूपगढ़ थाना क्षेत्र के चक 4-ए के एक युवक से हुई थी, जिससे 5 वर्ष का बेटा है। बाद में बिंदु किसी मुकेश बिश्नोई निवासी संगरिया के साथ रहने लगी। उसके द्वारा अनेक युवाओं को सीआईडी की नौकरी का झांसा देकर ठगी करने की बात सामने आ रही है लेकिन अभी तक एक ही पीड़ित ने मुकदमा दर्ज करवाया है। दो दिन की रिमांड अवधि के पश्चात अदालत में पेश करने पर बिंदू को न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए गए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlinked in , YouTube  पर फॉलो करें।