इजरायल के सहयोग से बागवानी के उत्कृष्टता केंद्रों का बेहतर संचालन: तोमर

Narendra Singh Tomar sachkahoon

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और इजरायल के कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्री ओडेड फोरर के बीच आज गोलमेज बैठक का संसद भवन,यरुशलम में आयोजन किया गया। इस दौरान दोनों देशों में कृषि विकास की क्षमता के मद्देनजर कृषि, जल प्रबंधन, पर्यावरण एवं ग्रामीण विकास के क्षेत्र में आधुनिक कृषि तकनीकों, क्षमता निर्माण, ज्ञान हस्तांतरण और समर्थन के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई।

इस दौरान तोमर ने उम्मीद जताई कि इजराइल के सहयोग से भारत में उत्कृष्टता केंद्रों का बेहतर संचालन हो रहा है, जो आगे सभी राज्यों में स्थापित किए जा सकेंगे। बातचीत के दौरान, माशाव के कृषि सहयोग कार्यक्रमों और भारत में अन्य हितधारकों के पेशेवर प्रशिक्षण गतिविधियों की सराहना की गई। तोमर ने कहा कि भारत सरकार को क्षमता निर्माण और ज्ञान के हस्तांतरण पर ध्यान केंद्रित करते हुए भारत में माशाव की गतिविधियों को अपनाने की संभावनाओं का पता लगाना है, जिसके लिए प्रत्येक राज्य में उत्कृष्टता केंद्र स्थापित किए जाएंगे।

देश में बागवानी से हो रहा फायदा

कृषि मंत्री ने कहा कि पिछले दो दिनों में उन्होंने प्रतिनिधिमंडल सहित, कृषि में इजराइल की मजबूती और नवाचार को देखा है। उन्होंने इजराइल के रेगिस्तानी क्षेत्रों को वेजिटेबल बास्केट में बदलने के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में प्रौद्योगिकी, मशीनीकरण, स्मार्ट एवं टिकाऊ पद्धतियों और कृषि व्यवसाय मॉडल के साथ किसानों को सशक्त बनाकर कृषि क्षेत्र में तेजी से परिवर्तन ला रही है।

तोमर (Narendra Singh Tomar) ने खुशी जताते हुए कहा कि बागवानी में उत्कृष्टता केंद्रों की स्थापना के मॉडल ने गति पकड़ी है और अब 12 भारतीय राज्यों में 29 इजरायली उत्कृष्टता केंद्र (सीओई) पूरी तरह से कार्य कर रहे हैं। इजरायल के कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्री फोरर के साथ भारतीय प्रतिनिधिमंडल की बैठक के दौरान विचार-विमर्श, देश में कृषि विकास की दिशा में बेहद फायदेमंद रहा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here