हैवानियत: पानीपत में 4 वर्षीय बच्ची के साथ दुराचार, बच्ची की हालत नाजुक, रोहतक रेफर

पानीपत (सन्नी कथूरिया)। समाज से इंसानियत खत्म होती जा रही है ना चाहते हुए भी लोगों पर विश्वास करना मुश्किल हो रहा है? करनाल में 10 हत्याकांड के बाद अब पानीपत जिले के समालखा के गांव एक 4 वर्षीय बच्ची के साथ दुराचार का मामला सामने आया है। पड़ोस के रहने वाले 4 बच्चों के पिता ने 4 वर्ष की बच्ची के साथ दुष्कर्म किया और मौके से फरार हो गया। जानकारी देते हुए जांच अधिकारी ने बताया कि बच्चे की मां ने बताया कि बच्ची रविवार शाम के समय पड़ोस खेल रही थी। कुछ समय तक जब बच्ची घर नहीं लौटी तो मां ढूंढते- ढूंढते पड़ोसियों के घर गई वहां उसने बच्ची को बेड पर रोते हुए खून से लथपथ देखा। बच्ची से प्यार से पूछने पर तब उसने पूरी बात बताई। बच्ची को इलाज के लिए जिले के सामान्य अस्पताल में लाया गया जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है और उसे रोहतक रेफर किया गया।

इस घिनौने कार्य को अंजाम देने वाले आरोपी की उम्र 35 वर्ष है और वह 4 बच्चों का पिता है। वारदात को अंजाम देने के समय घर पर कोई नहीं था और आरोपी वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए वारदात की जानकारी एफएसएल टीम को दी गई सूचना मिलते ही एफएसएल टीम इंचार्ज डॉ नीलम आर्य अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंची। वारदात स्थल यानी आरोपी केकर का निरीक्षण किया वारदात स्थल से टीम ने जरूरी चीजों के सैंपल लिए। कौन से कपड़ों को बतौर एविडेंस पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिए और जांच शुरू कर दी।

समाजसेवी हस्पताल पहुंची

बच्ची के साथ हुए जिन्होंने कार्य की सूचना मिलते ही नारी तू नारायणी की अध्यक्ष सविता आर्य परिवार से मिलने के लिए सामान्य अस्पताल पहुंची और उन्होंने दोषी को फांसी की सजा देने की मांग की। सविता आर्य ने कहा कि जिस ऐतिहासिक धरती से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरूआत हुई थी वही धरती पर बच्चों के साथ ऐसा घिनौना कार्य किया जा रहा है ऐसे दोषियों को कम से कम फांसी की सजा होनी चाहिए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here