मुकेश खन्ना को मिली हरियाणा शतरंज एसो. की कमान

0
302
Actor Mukesh Khanna

हरियाणा की धरती से शतरंज को मजबूती देंगे महाभारत के भीष्म

  •  पेरिस ओलंपिक में शतरंज की बिसात बिछाने पर होगा काम

सच कहूँ/संजय मेहरा
गुरुग्राम। हरियाणा की धरती पर (कुरुक्षेत्र में) हुई महाभारत में अहम् किरदार भीष्म पितामह (मुकेश खन्ना) भले ही महाभारत में शतरंज के खेल में चुप्पी साधे बैठे रहे, लेकिन 21वीं सदी में शतरंज की बिसात पर वे खुलकर बोलेंगे। शतरंज की मजबूती के लिए काम करेंगे। वकालत की पढ़ाई करने के बाद एक्टर बने 63 वर्षीय मुकेश खन्ना को हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) का अध्यक्ष बनाया गया है। एक्टिंग में नाम कमाने के बाद वे वर्ष 1998 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए। शक्तिमान धारावाहिक में शक्तिमान किरदार से भी उन्हें प्रसिद्धि मिली। खास बात यह है कि मुकेश खन्ना अभी तक अविवाहित हैं।

हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) के अध्यक्ष के बाद आगे उन्हें नेशनल शतरंज महासंघ के अध्यक्ष पद तक पहुंचाने की कवायद भी शुरू हो गई है। इसके लिए बकायदा एचसीए ने प्रस्ताव भी रखा है। यह तय है कि अगर शतरंज को ओलंपिक खेलों में शामिल कर लिया गया तो मुकेश खन्ना के नेतृत्व में ही वर्ष 2024 में होने वाले पेरिस ओलंपिक में शतरंज की बिसात बिछेगी। कोरोना महामारी के इस साल हुए टोक्यो-2020 ओलंपिक में शतरंज को जगह नहीं मिल पाई। अब पेरिस ओलंपिक में शतरंज को शामिल करने की कवायद तेज कर दी गई है।

हाल ही में हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) के संस्थापक अध्यक्ष बीएसएफ के पूर्व महानिदेशक वीएन राय टीएल सत्यप्रकाश आईएएस, अश्विन शेणवी आईपीएस और एचसीए महासचिव कुलदीप व अन्य पदाधिकारियों के बीच वीेडियो कांफ्रेंसिंग से बैठक भी हुई, जिसमें पेरिस ओलंपिक में शतरंज को शामिल कराने पर मंथन हुआ। एचसीए के महासचिव कुलदीप के मुताबिक पेरिस ओलंपिक 2024 में शतरंज की बिसात बिछाने को विश्व शतरंज महासंघ व आईओसी के बीच वार्ता जारी है। विश्व शतरंज महासंघ अब अपने 100 साल पूरे करने वाला है। इसकी स्थापना वर्ष 1924 में हुई थी।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में भी शतरंज को जगह

बता दें कि ओलंपिक खेल आयोजित कराने वाले देश के पास विशेष अधिकार होता है कि वह किसी नये खेल को ओलंपिक में शामिल करने का र्प्रस्ताव दे सकता है। शतरंज में काफी रुचि रखने वाले भीष्म पितामह एवं शक्तिमान का किरदार निभा चुके मुकेश खन्ना भी इसमें अपना अहम योगदान देंगे। भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 में शतरंज को शिक्षा में शामिल किया गया है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।