वर्ष 2029-30 तक खाद्य तेल के आयात में आएगी 40% की कमी

0
219
oil

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने आज कहा कि सरकार वर्ष 2029-30 तक खाद्य तेल का आयात 40 प्रतिशत कम करना चाहती है। तोमर ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सरकार वर्ष 2025-26 तक काफी मात्रा में खाद्य तेल के आयात में कमी लाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि खाद्य तेल के उत्पादन में वृद्धि के लिए सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशनझ्रपाम आॅयल के क्रियान्वयन को मंजूरी दी है। इस मिशन पर 11,040 करोड़ रुपये के खर्च किये जाएंगे।

जिससे तिलहन और पाम आॅयल का रकबा तथा पैदावार बढ़ाने में मदद मिलेगी। इससे किसानों को अत्यधिक लाभ होगा, पूंजी निवेश बढ़ेगा, रोजगार सृजित होंगे तथा आयात पर निर्भरता भी घटेगी। किसानों को किसी भी तरह के नुक्सान से बचाने के लिए केंद्र सरकार कीमत का मैकेनिज्म भी बनाएगी। उन्होंने कहा कि देश में 28 लाख हेक्टेयर भूमि में पाम की खेती की जा सकती है। पूर्वोत्तर क्षेत्र में नौ लाख हेक्टेयर क्षेत्र पाम की खेती के लिए उपयुक्त है। देश में जो खाद्य तेल का आयात किया जाता है उसमें पाम तेल की मात्रा 56 प्रतिशत है। देश में 1.25 करोड़ टन से अधिक खाद्य तेल का सालाना आयात किया जाता है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।