एमएसजी के 55 साल, परहित में बेमिसाल, बंजर भूमि पर आश्रम का निर्माण

सरसा। पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के 55वेपावन अवतार माह के उपलक्ष्य में शुरू की गई इस नई सीरीज में आपका स्वागत है। आज बात बंजर भूमि पर शाह सतनाम जी धाम आश्रम निर्माण की। श्रद्धालुओं की संख्या के समक्ष शाह मस्ताना जी धाम छोटा पड़ने लगा था। श्रद्धालुओं की गिनती दिन-ब-दिन बढ़ रही थी। विस्तृत और बड़े आश्रम के निर्माण की नितांत आवश्यकता थी। इसलिए सरसा से 7 किलोमीटर दूर नए आश्रम के लिए वीरान और बंजर भूमि खरीदी गई। भादरा रोड़ पर स्थित इस रेतीली माटी में चारों ओर रेत ही रेत का ही साम्राज्य था। रेत के ऊंचे टीलों पर ही अत्न-तत्र झांटी के पेड़ ही दिखाई देते थे। पानी का कोई साधन नहीं था। पूरी कहानी देखें वीडियों में….

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here