आशीष कुमार ने कुछ समस्याएं लिखकर दी हैं समस्या के समाधान के लिए जरूरत पड़ी तो करवाई जाएगी काउंसलिंग..एस पी शशांक कुमार

पानीपत… (सच कहूँ/सन्नी कथूरिया) पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन ने बताया कि जिला पुलिस में तैनात मुख्य सिपाही आशीष कुमार निर्धारित ड्यूटी स्थान पर नही करने का आदी है। वह अपनी मनमर्जी से अलग-अलग क्षेत्रों पर ड्यूटी करने के लिए पहुंच जाता था। वर्तमान में इसकी तैनाती यातायात के ईस्ट जोन में होने के बावजूद अपनी डयूटी को छोड़कर अलग अलग थाना क्षेत्रों में जाकर नियम के विरूद्ध दंबिस दे रहा था। हरियाणा पुलिस बल सेवा-सुरक्षा-सहयोग के साथ-साथ अनुशासन बल के लिए भी जानी जाती है। मगर मुख्य सिपाही आशीष कुमार निर्धारित जगहों पर ड्यूटी न देकर लंबे समय से अनुशासनहीनता का परिचय दे रहा था। पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन ने बताया कि मुख्य सिपाही आशीष कुमार कई बार पेश होकर मानसिक तनाव के बारे में बात कर चुका है। कही मानसिक स्थिति का सामना ना कर रहा हो इस वजह से हर बार कार्रवाही ना कर उसको समझा कर पंसद की ड्यूटी पर तैनाती दी गई। इसके अतिरिक्त मुख्य सिपाही आशीष कुमार के खिलाफ अलग-2 मामलो में संलिप्त होने के कारण कई बार कानूनी एंव विभागीय कार्यवाही अमल में लाई जा चुकी है।

यह भी पढ़ें:– दो दिन से हो रही बारिश किसानों के लिए बन रही मुसीबत

हरियाणा पुलिस विभाग के प्रत्येक कर्मचारी की समस्याओं के निवारण करने के लिए प्रयत्न करता है। मुख्य सिपाही आशीष कुमार ने अपनी कुछ समस्याएं आज लिखकर दी हैं। इसके संदर्भ में समस्या का समाधान निकालने के लिए जरूरत पड़ी तो मुख्य सिपाही आशीष कुमार की काउंसिलिंग करवाई जाएगी। इससे पहले भी वर्ष 2018 में मुख्य सिपाही आशीष द्वारा स्वेच्छा से रिटायर्डमेंट लेने बारे अर्जी दे चुका है। उस समय भी उच्च अधिकारियों द्वारा काउंसलिंग करवाकर समझाकर विभाग में बने रहने दिया था।मुख्य सिपाही आशीष कुमार द्वारा आज मिडिया के माध्यम से भ्रष्टाचार व अवैध कार्यो में पुलिस की संलिप्ता बारे जो आरोप लगाए है। उनकी गहनता से जांच की जाएगी। भ्रष्टाचार व अवैध कार्यो में पुलिस की संलिप्ता किसी भी सूरत में सहन नही की जाएगी। इससे पहले भी ऐसे कार्यो में सलिप्ता पाए जाने पर कार्रवाही की जा चुकी है। अब भी इस प्रकार की गतिविधियों में कोई भी कर्मचारी शामिल पाया जाता है उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाही अमल मे लाई जाएगी।

गत 21 सितम्बर की सायं करीब 8:30 बजे दो लड़के सिविल कपड़ो में वधावाराम कॉलोनी पानीपत में चिराग पुत्र महेन्द्र के घर के बाहर पहुंचे जहां पर उन्होंने चिराग से जबरदस्ती क्षेत्र में शराब के खुर्दों बारे में पूछा। चिराग ने जानकारी ना होने के कारण मना किया तो दोनों ने चिराग के साथ मारपीट कर दी। उन लड़को द्वारा अपने आप को मुख्य सिपाही आशीष (हाल तैनाती यातायात ईस्ट जोन) के आदमी होने का दावा किया गया। जिस घटना के संबंध में पिड़ित चिराग द्वारा अपने चोट का मैडिकल करवाकर थाना तहसील कैंप में शिकायत दर्ज करवाने पर उन नामपता नामालुम लड़को के खिलाफ थाना तहसील कैंप पानीपत में मुकदमा दर्ज किया गया है।

इसके अतिरिक्त वधावाराम कॉलोनी में एक मकान मे जो शराब मिली थी। उसके संबंध में थाना तहसील कैंप पानीपत में अभियोग अंकित करके आरोपी जसक्रीत की गिरफ्तारी की गई।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here