चिंताजनक : भिवानी जिले के कई गाँवों में किसानों की मेहनत पर फिरा पानी

सरसों पर पाले की मार, अन्नादाता को मुआवजे की दरकार

  • पीड़ित किसानों ने 50 हजार रुपये प्रति एकड़ भरपाई की उठाई मांग

भिवानी (सच कहूँ/इन्द्रवेश)। भिवानी में कई गाँवों के किसान अपनी सरसों की बर्बाद फसल लेकर लघु सचिवालय पर पहुंचे। यहां उपायुक्त के माध्यम से पीड़ित किसानों ने सरकार से प्रति एकड़ 50 हजार रुपए मुआवजा देने की मांग की। परेशान किसानों ने कहा कि मुआवजा नहीं मिला तो वो मरने के मजबूर होंगे। शुक्रवार को जिला के गाँव पूर्णपुरा, कोंट, उमरावत, देवसर व नवा धिराणा गाँवों के किसान अपने सरपंचों को साथ लेकर स्थानीय लघु सचिवालय पर पहुंचे।

यह भी पढ़ें:– पंजाब में एएस कंपनी के 80 शराब के ठेके सील

इस दौरान किसान पाले की मार से पूरी तरह बर्बाद हुई फसल भी लेकर पहुंचे तथा कहा कि ये वहीं सरसों की फसल है जो पूरे साल मेहनत करके व हजारों रुपए खर्च करने के बाद पकती है, पर पाले की मार ने किसान की फसल को खत्म कर दिया। पीड़ित किसानों के साथ आए सरपंचों ने बताया कि उनके गाँवों में नहरी पानी की कोई व्यवस्था नहीं है। बीते 30-35 सालों से उनके खेतों में कभी नहर का पानी नहीं आया। ऐसे में सरसों ही उनके जीवन का सहारा है, पर इस बार पाले की मार ने सब बर्बाद कर दिया। इस सरसों के सहारे ही किसान अपना परिवार पालते हैं, घर बनाते हैं, बच्चों की शादी करते हैं। उन्होंने कहा कि हर किसान को प्रति एकड़ 50 हजार रुपए मुआवजा दिया जाए।

गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाए सरकार : भाकिस

भिवानी। भारतीय किसान संघ बार-बार गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाने को लेकर सरकार से मांग करता आ रहा है, मगर सरकार की तरफ से अभी तक इस पर रूख साफ नहीं किया गया है। उन्होंने यदि जल्द ही सरकार ने किसानों की मांगें नहीं मानी तो सरकार के खिलाफ उन्हे संघर्ष की राह अपनानी पड़ेगी। यह बात भारतीय किसान संघ के प्रातं मंत्री महिपाल बड़दू ने सरकार से गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग करते हुए कही।

इस दौरान उन्होंने ठंड व पाले से प्रभावित खेतों का निरीक्षण किया तथा ठंड व पाले की मार से बर्बाद हुई फसलों व सब्जियों के मुआवजे की मांग की। इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष राजेराम, राजसिंह तालु, सज्जन धनाना, रामचंद्र कुंगड़, मांगेराम सिढाण तोशाम, कुलदीप रोबिन सिढ़ाण, बलवान बैराण, राजेन्द्र तालु, विनोद नयागांव, राजकुमार बैरागढ़, कर्ण सिंह बडदु, कुलदीप सिढाण, ज्ञानसिह जिला प्रचारक आदी किसान उपस्थित रहे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here