सुरेश की सफलता पर सभी को गर्व, गांव रुपावास में बना पहला सीए

आईसीएआई द्वारा सीए फाइनल व इंटरमीडिएट परीक्षा के परिणाम घोषित

  • ग्रामीणों में खुशी का माहौल, घर में बधाई देने वालों का लगा तांता

(सच कहूँ/भगत सिंह)। इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) ने चार्टर्ड अकाउंटेंसी सीए फाइनल और इंटरमीडिएट परीक्षा के परिणाम घोषित किए। घोषित परीक्षा परिणाम में सरसा जिले के नाथूसरी चौपटा खंड के गांव रुपावास के सुरेश पुत्र मदनलाल ओलख ने सीए फाइनल की परीक्षा पास कर गांव व क्षेत्र का नाम रोशन किया है। रुपावास के पूर्व सरपंच रामस्वरूप औलख के पोत्र सुरेश औलख ने नवंबर 2022 में हुई फाइनल परीक्षा में सफलता हासिल की है। यह जानकारी देते हुए सुरेश के माता-पिता मदनलाल और शान्ति देवी ने बताया कि गांव रुपावास में पहला युवा है जिसने सीए फाइनल के परीक्षा पास की है। सुरेश की सफलता पर उन्हें गर्व है।

यह भी पढ़ें:– दिल्ली की हवा हुई और खराब

सुरेश को बचपन से था सीए बनने का सपना:

सुरेश द्वारा रुपावास के स्कूल से दसवीं की परीक्षा पास करने के बाद 12वीं कक्षा तक की पढ़ाई बराच मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल नाथूसरी कलां से की। उसके बाद सीए की तैयारी में जुट गया। उन्होंने बताया कि उनके दो बेटे हैं। एक बेटा राजस्थान में जेबीटी अध्यापक के पद पर कार्यरत है तथा सुरेश ने सीए की परीक्षा पास कर गांव व क्षेत्र का नाम रोशन किया है। मदनलाल खुद बिजली विभाग में कार्यरत है। सुरेश ने बताया कि उसका शुरू से ही सीए बनने का सपना था और वह उसने कड़ी मेहनत और पूरी लगन से पढ़ाई करके सपना पूरा किया है। उसने बताया कि सीए की पढ़ाई सेल्फ स्टडी करके ही की है तथा उसे सफलता मिली है। गांव रुपावास में पहला सीए बनने पर ग्रामीणों में खुशी का माहौल है और सुरेश के घर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here