कोटा की वीरमाला इन्सां व उनकी बेटी स्वाति इन्सां बनी मिसाल, कैंसर पीड़ित महिलाओं के लिए दान किए अपने बाल

0
108
Kota's Veermala Insan and her daughter Swati Insan

 कैंसर पीड़ित महिलाओं के बाल उड़ने पर दान किए बालों की लगाई जाती है विग

कोटा (सच कहूँ न्यूज)। खुदा भी अपनी रहमतों की उस पर बरसात करता है, जो जरूरतमंद की मदद के लिए हाथ बढ़ाता है। जी हां अपने लिए तो दुनियां जीती है, मगर बेसहारा, जरुरमन्द लोगों के लिए जीना समाज में अनुकरणीय मिसाल बन जाया करती है। ऐसी ही एक दुर्लभ मिसाल कायम की है कोटा की स्वाति इन्सां व उनकी मां वीरबाला इन्सां ने। स्वाति मेडिकल की तैयारी कर रही है व उनकी मां ग्रहणी है। स्वाति व उसकी मां ने अपने सुंदर घने लंबे बाल कैंसर से ग्रस्त महिलाओं खासकर उन महिलाओं के लिए जिनकी किमोथेरेपी होने के बाद बाल हमेशा के लिए उड़ जाया करते हैं, उन्हें दान कर दिए।

दरअसल उन महिलाओं को मेडिकल बालों की आर्टिफिशियल विग लगाई जाती है। जिसे देश की प्रसिद्ध दक्षिणी भारत की कम्पनी हेयर फॉर हॉप विग बनाती है। दरससल बाल दान करने की मुहीम दक्षिण भारत की कम्पनी हेयर क्राउन ने शुरू की थी। हेयर क्राउन संस्था को जो लोग अपने लम्बे बाल दान करतें हैं, उन बालों से संस्था बेहतरीन तरीके से आर्टिफिशल विग बनाती है। फिलहाल जो स्वाति व उसकी माँ ने अपने लम्बे बाल हेयर क्राउन को दान किए हैं वो बाल कोटा से मुंबई कोरियर के माध्यम से हेयर फॉर हॉप इंडिया संस्था को भेज दिए गए है। इन बालों की बढ़िया किस्म की विग बनेगी।

मां-बाप का साथ

स्वाति के इस कार्य के प्रति जब हमने उससे व उसके माता पिता से बात की तो उन्होंने कहा की स्वाति इन्सां की इस नेक पहल से हम पूरी तरह सहमत थे व स्वाति ने ही अपनी मां को बाल डोनेट के लिए प्रेरित किया व उसकी बात से सहमत होकर उसकी माँ ने भी अपने 15 इंच बाल दान कर दिए। स्वाति के माता पिता ने बताया की वह बचपन से ही अपने बालों की बहुत केयर करती थी। उनका कहना है कि हमने सोचा नही था कि इतनी आसानी से बेटी बालों की आहूती दे देगी, और जब बेटी ने अपने बाल कटवाए तो हमें बेटी पर गर्व हुआ और खुशी के आंसू भी आए।

यूट्यूब से हुई प्रेरित

स्वाति बताती है कि 2 साल पहले मैंने पार्क में एक अंकल को देखा था जो कैंसर पीड़ित थे और इलाज के कारण उनके बाल पूरी तरह से उड़ गए थे, तो मेरे दिमाग में ऐसे मरीजों की मदद करने का विचार आया और मैंने यूट्यूब पर देखा कि हम कैंसर पीड़ितो की मदद केसै करें? वहां से मुझे आईडिया मिला कि हम उनको बाल डोनेट करके उनकी मदद कर सकते हैं जो उन्हें फ्री आॅफ कॉस्ट मिलते हैं और जो उनको मानसिक रूप से सकारात्मक रखते हैं और जीने की इच्छा जगाते हैं।

दो साल में मैंने अपने बाल लंबे किए और 17 इंच के बाल दान किए और मैंने अपनी मां को बताया कि हम इस तरह बाल डोनेट कर इन मरीजों की मदद कर सकते हैं तो मेरी मां ने अपने 15 इंच लम्बे बाल डोनेट किए। स्वाति व उसकी माँ ने बताया कि वो अपने दैनिक जीवन मे कई मानवता भलाई के कार्य जैसे पक्षियों को दाना-पानी रखना, खूनदान, राशन दान, पौधारोपण आदि कार्य करते रहते हैं और ये सब कार्य वे अपने पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षा पर चलते हुए करते हैं। इन्हीं वचनों को ध्यान में रखते हुए दोनो माँ बेटी ने अपने बालों की सुंदरता एक पल में कुर्बान कर हेयर फॉर हॉप इंडिया संस्था को डोनेट कर दिए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।