हल्की बारिश से मौसम सुहाना, ओलावृष्टि का ‘अलर्ट’

इलाके में नजर आया पश्चिमी विक्षोभ के असर ने बढ़ाई किसानों की चिंता, न्यूनतम तापमान 16.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज

  • फसलों में सिंचाई, छिड़काव कार्य स्थगित करने व कटी हुई फसल तथा पशुओं को सुरक्षित स्थान पर रखने की सलाह

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। प्रदेश के मौसम में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ का असर शुक्रवार को इलाके में नजर आया। शुक्रवार को अल सुबह से शाम तक रूक-रूक कर हल्की बारिश का दौर जारी रहा। पूरा दिन बादलवाही के बीच रिमझिम बारिश के साथ चली ठंडी हवाओं ने मौसम सुहाना कर दिया। इससे तापमान में गिरावट दर्ज की गई। हनुमानगढ़ जिले का न्यूनतम तापमान 16.4 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 24.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि हल्की बारिश से इलाके में फसलों को नुकसान होने का समाचार नहीं है। लेकिन मौसम विज्ञान केन्द्र जयपुर की ओर से आगामी दिनों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है।

यह भी पढ़ें:– गहलोत का मास्टर स्ट्रोक: नए जिलों की घोषणा

22 मार्च तक जारी अलर्ट के तहत प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम में बदलाव की सम्भावना है।

हनुमानगढ़-हनुमानगढ़, बीकानेर व जैसलमेर जिलों में अधिक बारिश, मेघ गर्जन, ओलावृष्टि सहित तेज हवाएं चलने की संभावना मौसम केन्द्र ने जताई है। ऐसी स्थिति में कृषि अधिकारियों की ओर से किसानों को खुले में पड़ी कटी हुई फसल को समय रहते सुरक्षित स्थान पर स्टोर करने की सलाह दी गई है। मौसम विभाग की ओर से दावा किया जा रहा है कि अगले चार दिनों में बीकानेर सहित भरतपुर, कोटा, जयपुर संभाग के जिलों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की जा सकती है।

इस बार किसानों के लिए चिंता का विषय इसलिए भी है क्योंकि ये सिस्टम पहले से ज्यादा प्रभावशाली है। कई स्थानों पर ओले गिरने की चेतावनी भी जारी की गई है। पिछले 24 घंटों में राज्य के कुछ भागों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई है। पूर्वी राजस्थान में सर्वाधिक बारिश 44 एमएम शाहपुरा, जयपुर में जबकि पश्चिमी राजस्थान के नागौर में 7 एमएम दर्ज की गई है। मौसम केन्द्र जयपुर के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि एक और नया पश्चिमी विक्षोभ 19 मार्च से राज्य के ऊपर प्रभावी होगा और पुन: थंडरस्टॉर्म के साथ बारिश की गतिविधियों में बढ़ोतरी होगी। इसके असर से 19-20 मार्च को मेघगर्जन, बारिश, तेज हवाएं व कहीं-कहीं ओलावृष्टि का दौर राज्य के कुछ भागों में जारी रहेगा।

बीस मार्च तक परिवर्तनशील मौसम के जताए आसार

मौसम विभाग की ओर से 20 मार्च तक परिवर्तनशील मौसम के आसार जताए गए हैं। संगरिया स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र की मौसम इकाई के पूर्वानुमान के अनुसार हनुमानगढ़ जिले में आगामी तीन दिन 20 मार्च तक मौसम परिवर्तनशील रहने के आसार हैं। 18, 19, 20 मार्च को पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से तेज हवाएं, मेघ गर्जन, थंडरस्टॉर्म के साथ कहीं-कहीं हल्की से मध्यम बारिश तथा ओलावृष्टि होने का अनुमान है। सिस्टम के प्रभाव से दिन-रात के तापमान गिरावट दर्ज की जाएगी। पांच दिनों में अधिकतम तापमान 29.0 से 31.0 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 14.0 से 16.0 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। सापेक्ष आर्द्रता 23-82 प्रतिशत हो सकती है।

हवा की औसत गति 6.0 से 11.0 किमी प्रति घंटे हो सकती है। आगामी दिनों में क्षेत्र में संभावित परिवर्तनशील मौसम को देखते हुए किसानों को सलाह दी गई है कि वे फसलों में सिंचाई, छिड़काव कार्य स्थगित करें। कटी हुई फसल तथा पशुओं को सुरक्षित स्थान पर रखें। कृषि उपज मंडियों में खुले में खुले में रखे हुए अनाज व जिन्सों को सुरक्षित स्थान पर भंडारण करें ताकि उन्हें भीगने से बचाया जा सके। अचानक तेज हवाओं से सोलर पैनल को नुकसान से बचाने के लिए आवश्यक उपाय करें। पिछले सप्ताह के मौसम पर नजर डालें तो 10 मार्च से 16 मार्च तक दिन का अधिकतम तापमान 30.4 से 33.4 डिग्री सेल्सियस (औसत 32.0 डिग्री सेल्सियस) तथा न्यूनतम तापमान 11.3 से 18.1 डिग्री सेल्सियस (औसत 14.2 डिग्री सेल्सियस) रहा। सप्ताह के दौरान दिन में औसत 8.48 घंटे प्रतिदिन धूप खिली रही।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here