कैराना में अनाधिकृत निर्माण पर चला प्रशासन का बुलडोजर

चारागाह की अस्सी बीघा भूमि कराई कब्जामुक्त, प्रशासन की कार्यवाही से भू-माफिया में मचा हड़कंप

कैराना। (सच कहूँ न्यूज) तहसील प्रशासन ने गंदराऊ गांव में चारागाह की भूमि पर किए गए अनाधिकृत निर्माण पर बुलडोजर चलवा दिया। इस दौरान गैर आवासीय मकानों को ध्वस्त कराते हुए फसलों को भी खुर्द-बुर्द कर दिया गया। मौके पर 80 बीघा चारागाह की भूमि को कब्जामुक्त कराकर मेड़बंदी करा दी गई है। प्रशासन की कार्रवाई से कब्जाधारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

यह भी पढ़ें:– मोरना व भोकरहेड़ी में रैपिड एक्शन फोर्स ने किया फ्लैग मार्च

गांव गंदराऊ में प्रशासन को चारागाह की भूमि पर अवैध कब्जे की शिकायत मिल रही थी। मौके पर जांच के दौरान भूमि चिह्नित की गई थी। जहां फसलों के अलावा अनधिकृत निर्माण पाया गया था। प्रशासन ने कब्जाधारियों को नोटिस जारी करते हुए भूमि खाली करने के निर्देश दिए थे। इसके बावजूद भी कब्जा बदस्तूर जारी था। शुक्रवार को एसडीएम शिवप्रकाश यादव ने नायब तहसीलदार गौरव कुमार और राजस्व टीम के साथ मौके पर पहुंचकर भूमि खाली कराने की कार्रवाई शुरू कर दी।

भूमि की पैमाइश कराने के बाद खसरा नंबर-36 और 39 की भूमि पर उगाई गई गोभी, गेहूं व सरसों आदि की फसल को ट्रैक्टर चलवाकर नष्ट करा दिया गया। जबकि भूमि के अन्य हिस्से पर स्थित गैर आवासीय दो भवन, दो चारदीवारी, एक प्लाॅट की नींव और दीवार को जेसीबी मशीन से ध्वस्त करा दिया गया। टीम ने पुनः अवैध कब्जा करने पर एफआईआर दर्ज कराने की भी चेतावनी दी। प्रशासन की कार्रवाई से कब्जाधारियों में हड़कंप मचा रहा। टीम में लेखपाल मुजक्किर खान, सचिन व सूरज आदि मौजूद रहे।

15 कब्जाधारियों के खिलाफ वाद दायर

गंदराऊ में खसरा नंबर-36 में चारागाह की करीब 30 बीघा भूमि पर आवासीय भवन भी स्थित है। भूमि को कब्जामुक्त कराने की कार्रवाई के दौरान एसडीएम ने उपरोक्त भवनों में निवास करने वाले परिवारों को भी चेतावनी दी। एसडीएम शिवप्रकाश यादव ने बताया कि 15 आवासीय भवन स्वामियों को भी चिह्नित किया गया है, जिनमें फुरकान, इरफान, नवाब, शारिक, साजिद, जुलफान, साजिद, सज्जाद, नाजिम व ताहिर शामिल हैं, जिनके विरूद्ध धारा 67 के तहत न्यायालय में वाद दायर कर दिया गया है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here