मुस्कान इन्सां ने कैंसर पीड़ित महिलाओं के लिए दान किए अपने ढ़ाई फुट लंबे बाल

0
424
Muskan-insa-saha-satnam-pur

जिन कैंसर महिलाओं के बाल उड़ जाते हैं उन्हें दान किए हुए बालों की लगाई जाती है विग

सच कहूँ/रविन्द्र रियाज
सरसा। खुदा भी अपने रहमतों की उसपर बरसात करता है, जो जरूरतमंद की मदद के लिए हाथ बढ़ाता है। जी हां अपने लिए तो दुनियां जीती है, मगर बेसहारा, जरुरमन्द लोगों के लिए जीना समाज में अनुकरणीय मिसाल बन जाया करती है। ऐसी ही एक दुर्लभ मिसाल कायम की है सरसा के गाँव शाह सतनाम जी पूरा की निवासी मुस्कान इन्सां ने। मुस्कान ग्यारहवीं कक्षा की छात्र है। मुस्कान इन्सां ने कैंसर पीड़ित महिलाओं के लिए अपने सुंदर बालों की पल भर में कुबार्नी दे दी। मुस्कान ने अपने सुंदर घने लंबे बाल कैंसर से ग्रस्त महिलाओं खासकर उन महिलाओं के लिए जिनकी किमोथेरेपी होने के बाद बाल हमेशा के लिए उड़ जाया करते हैं, उन्हें दान कर दिए। दरअसल उन महिलाओं को मेडिकल बालो की आर्टिफिशियल विग लगाई जाती है। जिसे देश की प्रसिद्ध दक्षिणी भारत की कम्पनी हेयर क्राउन विग बनाती है। जिन महिलाओं द्वारा बाल दान किए जाते हैं

Muskan-Insa

उन बालों की ये कम्पनी विग बनती है। दरससल बाल दान करने की मुहीम दक्षिण भारत की कम्पनी हेयर क्राउन ने शुरू की थी। हेयर क्राउन संस्था को जो लोग अपने लम्बे बाल दान करतें हैं, उन बालों ये संस्था बेहतरीन तरिके से आर्टिफिशल विग बनाती है। फिलहाल जो मुस्कान ने अपने ढ़ाई फिट लम्बे बाल हेयर क्राउन को दान किए हैं वो बाल सरसा से मुंबई कोरियर के माध्यम से हेयर क्राउन संस्था को भेजे जांयेंगे। जहाँ इन बालों की बढ़िया किस्म की विग बनेगी।

माँ-बाप ने मुस्कान का दिया साथ

मुस्कान के इस कार्य के प्रति जब हमने उससे व उसके माँ बाप से बात की तो उन्होंने कहा की मुस्कान इन्सां की इस नेक पहल से हम पूरी तरह सहमत थे। मुस्कान की माँ नीलम इन्सां ने बताया की मैंने 7 सालों में बड़ी मेहनत व चाव से मुस्कान के बालों को पोषित किया था। जब नाइ हमारे घर बाल काटने के लिए आया तो मैंने सोचा कोई फैशन के लिए बच्चों ने बुलाया होगा, लेकिन जब नाई ने पहली कैंची चलाई तो मेरी आखें नम हो गई।

मैं दूसरे कमरे में जाकर रोने लग गई। जब उसके बाद मुस्कान ने मुझे सारी बात बताई तब मुझे मेरी बेटी पर गर्व हुआ और खुशी के आंसू भी आए। मुस्कान के पिता रमेश चहल ने बताया की शुरूआत में मेरा मन एक पल के लिए उदास हुआ, लेकिन बाद में मैंने सोचा की मेरी बच्ची के एक छोटे से योगदान से किसी जरूरतमंद की जिन्दगी में रौनक आ सकती है तो मैं उसे कैसे रोक पाता। वास्तव में मुस्कान इन्सां की इस पहल के बाद समाज में इंसानियत की विचारधारा को ओर मजबूती मिली है। जहाँ इस कलयुग में अपने अपनों की सहायता नहीं करते ऐसे दौर में मुस्कान द्वारा की गई इस नेक पहल ने समाज का दिल जित लिया है।

यूट्यूब से प्रेरित होकर मुस्कान ने लिया फैसला

हुआ यूं कि मुस्कान ने यूट्यूब पर एक वीडियो देखी जिसमें एक लड़की ने अपने बाल कैंसर ग्रस्त महिलाओं को दान किए थे। उस वीडियो से प्रेरित होकर मुस्कान ने भी अपने बाल कैंसर मरीज महिलाओं के लिए दान करने का मन बना लिया। मुस्कान ने बताया की जैसे ही मैंने वीडियो यूट्यूब पर देखी तो मुझे हमारे पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के बताए वचन याद आ गए की जिसमें गुरु जी बताते हैं कि हमें अपनी जिंदगी में बेसहारा, जरूरमंद लोगों के लिए हमेशा काम आना चाहिए।

अपने लिए तो जिव-जंतु भी जीते हैं मगर सच्ची इंसानियत दूसरों के काम आने से निभाई जाती है। इन्हीं वचनों को ध्यान में रखते हुए मैंने अगले ही दिन अपने घर सैलून मास्टर को बुलाकर अपने बालों की सुंदरता एक पल में कुर्बान कर के हेयर विग कम्पनी को डोनेट कर दिए। मुस्कान ने कहा है की भविष्य में भी मेरे बाल इसी प्रकार बढ़ेंगे तो फिर मैं अपने बाल दान करूंगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।