संगरिया के सेवादारों ने दिमागी रूप से परेशान को अपनों से मिलाया

  • बदहाल हालत में मंड़ी में मिला था नशकऊ

  • परिजन बोले-डेरा सच्चा सौदा के सेवादार भगवान के फरिश्ते हैं

संगरिया (सच कहूँ/सुरेन्द्र जग्गा)। पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षाओं पर चलते हुए डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी मानवता भलाई के 142 कार्यों में हमेशा आगे रहते हैं। इसी क्रम में संगरिया ब्लॉक के सेवादारों ने इलाहाबाद से लापता हुए एक व्यक्ति को मंगलवार को उपखंड अधिकारी संगरिया की मौजूदगी में उसके परिजनों के सुपूर्द किया।

जानकारी के अनुसार नशकऊ पुत्र बलीराम जाति पटेल निवासी गाँव करछना जिला इलाहाबाद (उत्तर प्रदेश) का निवासी है। उसके पिता का देहांत हो चुका और माता पैरों से दिव्यांग है। ऐसे में वह काम-धंधे की तलाश में घर से निकल पड़ा और बीकानेर (राजस्थान) पहुंच गया। वहां लोगों ने उसे चोर समझकर बहुत मारा पीटा और उसकी फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर दी। फिर उसे कई जगह लोगों ने पकड़ा और उसके साथ बदसलूकी की। उसके द्वारा खाने-पीने का सामान मांगने पर पानी में कुछ मिलाकर दिया गया, जिससे उसके दिमाग का संतुलन बिगड़ गया। नशकऊ मानसिक परेशानी में संगरिया की सब्जी मंडी पहुंच गया। इसी दौरान उसे सेवादार कृष्ण मिढ़ा ने देखा। फिर उन्होंने अन्य सेवादार के सहयोग से पुलिस थाना में उसकी सूचना दी और सरकारी हॉस्पिटल में इस व्यक्ति का उपचार करवाकर नामचर्चा घर संगरिया लाया गया। जिस समय नशकऊ मिला तो उसके शरीर पर गहरे जख्म थे। सेवादारों ने नशकऊ का इलाज करवाया।

यह भी पढ़ें:– चार यूनिट रक्तदान महिला के ईलाज में की मद्द

ब्लॉक संगरिया के सेवादारों ने नशकऊ द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर इलाहाबाद (उत्तर प्रदेश) के ब्लॉक भंगीदास इंद्रसेन व शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंग के सेवादार अमृतपाल इन्सां से सोशल मीडिया के सहारे संपर्क किया। इस प्रकार नशकऊ के परिवार तक सेवादार पहुंच गए। इलाहाबाद से अपने ससुर को लेने आए विशाल कुमार पटेल ने बताया कि घर की आर्थिक स्थिति सही ना होने के कारण उसके ससुर नशकऊ लगभग 1 माह पूर्व घर से काम की तलाश में निकले थे। लेकिन उसके बाद घर नहीं गए। इसके चलते पूरा परिवार बहुत सदमे में था। घर की आर्थिक स्थिति सही ना होने के कारण दूर तक उसकी तलाश भी नहीं कर पाए। ऐसे में जब उन्हें पता चला कि उनके पिता सुरक्षित हैं तो उनकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा।

जब फोन पर वीडियो कॉलिंग करवाई गई तो नशकऊ के परिजनों ने एक माह बाद अपने खोए हुए परिवार के सदस्य को देखा तो उनकी आंखों में खुशी के मारे अश्रु धारा बहने लगी। उन्होंने कहा कि डेरा सच्चा सौदा के सेवादार भगवान के फरिश्ते हैं, जिन्होंने उनके अपने की संभाल की है। संगरिया ब्लॉक के सेवादारों ने उपखंड अधिकारी रमेश देव की मौजूदगी में सभी कागजी कार्रवाई पूरी करते हुए मानसिक रूप से परेशान व्यक्ति को सही सलामत उसके परिजनों को सौंप दिया। पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की दया मेहर से आज एक और परिवार को उसका विछड़ा हुआ सदस्य मिल गया।

इस पुनीत कार्य में मुख्य रूप से शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंग के जिम्मेवार भाई लालचंद इन्सां, संगरिया ब्लॉक के भंगीदास कृष्ण सोनी इन्सां, गोविंद सोनी इन्सां, अमराराम इन्सां, जगजीत सिंह इन्सां, विनोद हांडा इन्सां, पवन इन्सां जंडवाला, प्रेम ग्रोवर इन्सां, भंगीदास जसविंदर इन्सां, कृष्ण मिढ़ा इन्सां, बनारसी दास इन्सां, नंदकिशोर कटारिया इन्सां, समीर इन्सां, सागर जग्गा, सीएलजी सदस्य अमरनाथ पेंटर व सुरेंद्र जग्गा इन्सां का सहयोग रहा ।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here