पिछले 8 वर्षों से ले रही थी पेंशन, अब पेंशन योजना के लाभ से किया वंचित

  • विधवा व वृद्ध महिलाओं ने जिला पेंशन विभाग से मांगा जवाब
  • आरटीआई नियम 2005 का लिया सहारा : गुप्ता

अबोहर। (सच कहूँ/सुधीर अरोड़ा) शिकायतकर्ता विधवा रश्मि देवी (पीएलए नंबर 47322) विधवा निर्मला देवी (पीएलए नंबर 235484) व वृद्धा रानी (पीएलए नंबर 0214925) पिछले 8 वर्षों से पेंशन ले रही थी लेकिन पंजाब सरकार द्वारा पेंशन योजना के लाभ से वंचित कर दिया गया। पिछले 3 महीने से मौजूदा सरकार द्वारा मंजूर हर माह मिलने वाली पेंशन राशि बैंक खाते में जमा नहीं की जबकि महिलाओं ने आज वरिष्ठ समाजसेवी राजेश गुप्ता से संपर्क किया महिलाओं ने मौजूदा सरकार पर सवाल उठाते हुए कठोर शब्दों में सरकार की घिनौनी हरकत की निंदा की। महिलाओं ने कहा कि बिना किसी कारण बताओ नोटिस के मंजूर हुई पेंशन बंद कमरे में बैठकर जिस विभाग ने पेंशन मंजूर की थी उसी विभाग द्वारा 8 वर्ष बाद पेंशन काट दी गई।

यह भी पढ़ें:– हरियाणा डिप्टी सीएम के काफिले की गाड़ियों का एक्सीडेंट

महिलाओं ने सरकार पर यह भी आरोप लगाया कि सरकार ने चुनाव 2022 विधानसभा हल्के में सरकार बनाने के लिए झूठ का सहारा लिया और हालांकि महिलाओं ने बढ़ चढ़कर नई सरकार बनाने में अपना शक्ति प्रदर्शन किया। मौजूदा सरकार को भारी बहुमत देकर पंजाब की सरदारी सौंपी गई थी, लेकिन राज्य के मुख्यमंत्री अपने वादों को भूल गए। इस मौके पर समाजसेवी राजेश गुप्ता ने बताया कि सरकार मृतक पेंशन खाताधारकों की पेंशन राशि बैंकों में जमा कर रही है जबकि अन्य राज्यों से आकर वरिष्ठ नागरिक व सभी पेंशन योजनाओं से जुड़े लाभ ले रहे हैं लेकिन अबोहर और जिला फाजिल्का में सरकार ने इस विवाद पर कभी कोई कार्यवाही नहीं की। विभाग में दिन-ब-दिन लापरवाही बढ़ती जा रही है सही जरुरतमंदों को समय अनुसार पेंशन राशि जारी नहीं की जाती।

एटीएम व ज्वाइंट खातों में सरकार द्वारा की गई जमा पेंशन राशि सही हाथों तक तक नहीं पहुंचती। गुप्ता ने कहा कि विभाग के अधिकारी बंद कमरों में ही अपनी जांच खत्म कर देते हैं और राज्य सरकारें अपना वोट बैंक कायम करने के लिए चुनाव में झूठ का पिटारा खोल देती है जनता से वसूला गया टैक्स जनकल्याण की बजाए अपनी वाहवाही लूटने पर खर्च किया जाता है। गुप्ता ने कहा कि झूठ का सहारा लेकर कभी कागज की नाव पर सफर तय नहीं कर सकता। राज्य के विभागीय मंत्री, जिला पेंशन विभाग फाजिल्का अपनी औचक जांच करें।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here