प्याज का नकली बीज मिलने से लाखों का नुकसान

Fake Onion Seeds sachkahoon

सब्जी वैज्ञानिक व बागवानी की टीम ने मौके का किया निरीक्षण

भूना (सच कहूं न्यूज)। गांव महमदपुर सोत्र में एक किसान को प्याज का नकली बीज (Fake Onion Seeds) मिलने से लाखों रुपये का नुकसान होने का समाचार मिला है। पीड़ित किसानों ने जिला बागवानी अधिकारी व दुकानदार के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया। किसानों का आरोप है कि डीएचओ ने बीज विक्रेता दुकानदार को बचाने के लिए झूठी रिपोर्ट दे दी है।

इसलिए किसानों ने अल्टीमेटम दिया है कि नकली बीज से संबंधित समस्या का समाधान अधिकारियों ने दो दिन के अंदर नहीं किया तो डीएचओ कार्यालय व बीज विक्रेता की दुकान के आगे पक्का धरना देंगे। गांव महमदपुर सोत्र के पीड़ित किसान अमनदीप सिंह व पूर्व सैनिक हरजिंदर सिंह ने बताया कि उन्होंने 10 एकड़ भूमि में प्याज के लिए फतेहाबाद की एजेंसी से एक लाख 46 हजार 500 का 60 किलोग्राम बीज खरीद किया था।

लेकिन उपरोक्त बीज रोपित करने के बाद ग्रोथ नहीं कर पाया और प्याज का साइज भी नहीं बना। किसान ने जब दुकानदार को समस्या से अवगत करवाया तो उन्होंने मौके का निरीक्षण भी किया था। जिसके बाद दुकानदार ने बीज कंपनी से भी बातचीत की थी। आरोप है कि दुकानदार ने उन्हें नकली बीज देकर प्रति एकड़ तीन लाख का नुकसान पहुंचा है।

किसान को बिल काट कर दिया है नकली नहीं है बीज

एजेंसी के मालिक ने बताया कि हमने कंपनी का बीज किसान को बेचा है। जिसका पक्का बिल भी उसी समय दिया गया था। किसान के खेत में सब्जी वैज्ञानिक व बीज कंपनी के प्रतिनिधि तथा जिला बागवानी अधिकारी और चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की टीम ने मौके का निरीक्षण किया था। लेकिन बीज की गुणवत्ता सैंपल रिपोर्ट आने के बाद सही पाई गई है। अधिकारियों की रिपोर्ट के मुताबिक बीज में कोई कमी नहीं है।

क्या कहते हैं बागवानी अधिकारी श्रवण कुमार

जिला बागवानी अधिकारी श्रवण कुमार ने बताया कि किसान अमनदीप सिंह ने प्याज का नकली बीज (Fake Onion Seeds) होने से संबंधित शिकायत दी थी। शिकायत के बाद सब्जी वैज्ञानिक व बागवानी की टीम ने मौके का निरीक्षण किया। जहां पर प्याज की फसल तापमान के प्रति अति संवेदनशील है। यदि दिन व रात के तापमान में ज्यादा अंतर हो तो बोलटिंग की समस्या फसल में आना स्वाभाविक है। जिसके कारण फसल उत्पादन बहुत ही कम होने की अंदेशा है किसानों द्वारा बीज विक्रेता दुकानदार के साथ अधिकारियों के मिलीभगत के जो आरोप लगाए जा रहे हैं वह गलत है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here