राशन कार्ड कट गया है तो 18001802087 व 1967 नंबर पर करें कॉल

  • परिवार पहचान पत्र से जुड़ी भ्रांतियों को एडीसी ने किया दूर
  • -25 जनवरी तक पीपीपी से संबंधित समस्याओं का समाधान करने का है लक्ष्य
  • राशन कार्ड कट गया है तो डायल करें टोल फ्री नंबर-18001802087 और 1967

गुरुग्राम। गुरुग्राम के अतिरिक्त उपायुक्त विश्राम कुमार मीणा ने कहा कि हरियाणा सरकार की ओर से परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) में दर्ज परिवारों के विवरणों को अपडेट करने के लिए जिला, खण्ड व गांव स्तर पर विशेष कैंप लगाकर डाटा अपडेट किया जा रहा है। इसके अलावा विकास सदन स्थित अंत्योदय भवन में भी विशेष काउंटर की व्यवस्था की गयी है, जहां पर नागरिक सरलता से पीपीपी डाटा को अपडेट करवा सकेंगे।

पीपीपी से जुड़े विषयों को लेकर विकास सदन में आयोजित पत्रकार वार्ता में एडीसी ने कहा कि यदि किसी परिवार का राशन कार्ड पीपीपी में डाटा अपडेशन के दौरान  कट गया है, तो ऐसे नागरिक 18001802087 और 1967 टोल फ्री नंबरों पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं, उनकी शिकायतों पर वेरिफिकेशन करवाकर कार्यवाही की जाएगी। सरकार की ओर से परिवार पहचान पत्र से संबंधित डाटा अपडेट करने के लिए आवश्यक निर्देश जारी किए गए हैं। सरकार से मिले निदेर्शों के तहत पीपीपी में डाटा के अपडेशन के कार्य में तेजी लाकर सभी समस्याओं का समाधान 25 जनवरी तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

एडीसी ने मीडिया के माध्यम से राशन कार्ड कटने के कारणों को स्पष्ट करते हुए कहा कि परिवार पहचान पत्र में ऐसे परिवार जिनकी वार्षिक आय एक लाख अस्सी हजार से ज्यादा है, जिनका वार्षिक बिजली नौ हजार से अधिक है। ऐसा व्यक्ति जो पिछले तीन वर्षों से आयकर रिटर्न भर रहा है। ऐसे किसान जिन्होंने मेरी फसल मेरी ब्यौरा के माध्यम से एक वर्ष में चार लाख से अधिक की फसल बिक्री की है। इसके अतिरिक्त ऐसे प्राइवेट कर्मचारी जिनकी वार्षिक आय एक लाख अस्सी हजार से अधिक है। उन्हें बीपीएल सूची से बाहर रखा गया है। एडीसी श्री मीणा ने कहा कि जिला में जो लोग बीपीएल सूची से बाहर हुए है। उनमें से 65 प्रतिशत लोग नए नियमों से सहमत है। वहीं बाकी बचे 35 प्रतिशत लोगों की शिकायतों का मेरा परिवार पोर्टल के माध्यम से निवारण किया जा रहा है।

25 जनवरी तक ठीक की जाएगी पीपीपी से जुड़ी त्रुटियां

अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया कि गुरुग्राम जिला में अभी तक कुल 3500 शिकायतें प्राप्त हुई हैं। जिनमें 1500 शिकायत आॅफलाइन व 2000 शिकायतें आॅनलाइन माध्यम से मिली है। उन्होंने कहा कि जिला में पीपीपी से जुड़ी त्रुटियों को दूर करने के लिए 20 आॅपरेटर्स की टीम काम कर रही है। जिनकी जोनल मैनेजर व डिस्ट्रिक्ट मैनेजर के माध्यम से मोनिटरिंग की जा रही है। इसके अतिरिक्त वे स्वयं भी सभी शिकायतों के निवारण की प्रक्रिया पर नजर बनाए हुए हैं। सभी त्रुटियों को 25 जनवरी से पहले ठीक किया जाएगा। उसके बाद भी यदि किसी बीपीएल परिवार की शिकायत का निवारण होने तक उनको मिलने वाला राशन मिलता रहेगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here