विंग कमांडर मोहित राणा का हुआ अंतिम संस्कार

  •  करीब दोपहर 12 बजे चंडीगढ पहुंचा था उनका पार्थिव शरीर

चंडीगढ़ (एम के शायना)। राजस्थान के बाड़मेर में वीरवार रात को दुर्घटनाग्रस्त हुए भारतीय वायु सेना के मिग-21 विमान हादसे में शहीद हुए विंग कमांडर मोहित राणा का पार्थिव शरीर चंडीगढ़ में दोपहर 12 बजे के करीब न्यू चंडीगढ़ स्थित उनके घर पहुंचा। वहीं दोपहर 3 बजे सेक्टर-25 स्थित श्मशानघाट में राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया। अंतिम संस्कार के मौके पर श्मशानघाट पर लोगों की काफी भीड़ रही। शहीद मोहित राणा के परिवार के सदस्य समेत बड़ी संख्या में रिश्तेदार भी मौजूद रहे। उन्हें उनकी पत्नी निधी और चाचा के बेटे रोहित ने मुखाग्नि दी।

इससे पहले बलिदानी विंग कमांडर मोहित राणा के न्यू चंडीगढ़ के ओमैक्स सीटी स्थित घर पर उनके अंतिम दर्शनों के लिए भीड़ उमड़ी थी। मोहित की दो बहने हैं जिन्होंने उन्हें राखी भी बांधी। पूरे परिवार के सदस्यों को रो रोकर बुरा हाल था। वहीं उनके घर पर वायुसेना के अधिकारी और पुलिस भी तैनात रहे। शहीद विंग कमांडर मोहित राणा मूलरूप से हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के संधोल के रहने वाले थे, लेकिन उनका परिवार न्यू चंडीगढ़ में रहता है। मोहित के पिता ओम प्रकाश राणा सेना से लेफ्टिनेंट कर्नल के पद से सेवानिवृत हैं। मोहित राणा के पार्थिव शरीर के पहुंचने से पहले ही उनके तमाम रिश्तेदार व करीबी उनके घर में मौजूद थे। हिमाचल प्रदेश स्थित उनके गांव से भी लोग चंडीगढ़ पहुंचे हैं जो उनके अंतिम संस्कार में शामिल होंगे।

मोहित राणा की 3 साल की बेटी

विंग कमांडर मोहित शादीशुदा थे और उनकी एक 3 साल की बेटी भी है। उनके माता-पिता न्यू चंडीगढ़ की ओमैक्स सिटी में रहते हैं, जबकि उनकी पत्नी और बेटी उनके साथ राजस्थान में थे। मोहित राणा की पत्नी और 3 साल की मासूम बेटी को भी वायुसेना के जवान राजस्थान से साथ लेकर आए हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here