…सवधान, कहीं आप एप्प के जरिये ठगी का न हो जाएं शिकार

Cyber Thugs sachkahoon

कुरुक्षेत्र(सच कहूँ ब्यूरो)। साईबर अपराधी अपराध करने के नए-नए तरीके अपना रहे हैं। आजकल शातिर विज्ञापन दी जाने वाली एप्पलीकेशन द्वारा लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। शातिर सामान खरीदने व बेचने वाले भोले-भाले लोगों को अपना शिकार बना लेते हैं। ऐसा ही एक मामला 23 मई को थाना सदर थानेसर में दर्ज किया गया है। थाना सदर थानेसर के अन्तर्गत रहने वाले एक व्यक्ति ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में बताया कि उसने अपना सोफा बेचने के लिए ओएलएक्स एप्प पर विज्ञापन डाला हुआ था।

उसके पास एक नाम-पता नामालूम व्यक्ति का मैसेज आया कि वह सोफा खरीदना चाहता है। उसने उससे मोबाईल नम्बर ले लिया। कुछ देर बाद उसके पास एक अंजान नम्बर से फोन आया। उसने उसके सोफा को खरीदने का रेट तय कर लिया और उसके पास एक क्यूआर कोड भेजा। जिसको स्कैन करने पर अलग-अलग किस्तों में उसके खाते से शातिर ठग ने धोखाधड़ी से 93997 रुपये निकाल लिये। ठगी का पता चला तो उसने तुरंत साईबर क्राईम की वेबसाईट पर शिकायत दर्ज करवाई।

क्युआर कोड को न करें स्कैन : एसपी

पुलिस अधीक्षक डा. अंशु सिंगला ने कहा कि आज इन्टरनेट की दुनिया में हर व्यक्ति कम्पयूटर व मोबाईल से जुड़ा है। हर किसी की नौकरी या पढाई मोबाईल व कम्पयूटर तकनीकी सशांधनों से जुड़ी हुई है। इंटरनेट बैकिंग, आॅनलाइन फ्राड, वालेट/ यूपीआई संबंधित धोखाधड़ी से बचने के लिए लोगों को सावधानी बरतने की जानकारी दी जा रही है । फेसबुक हैकिंग, बारकोड के माध्यम से होने वाले फ्राड, व्हाट्सएप हैकिंग से बचाव, फर्जी वेबसाइट से होने वाले फ्राड के संबंध में सावधानियां बरतने के बारे में आमजन को जागरुक किया जा रहा है। फेसबुक, इंस्ट्राग्राम, व्हाट्सएप आदि सोशल साइट्स से हनी ट्रैप के संबंध में साइबर अपराध की जानकारी दी जा रही है। सिम कार्ड के माध्यम से, एटीएम कार्ड बदलकर, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड के माध्यम से बायोमैट्रिक, यूपीआई संबंधी फ्राड के प्रति जागरूक किया जा रहा है।

डॉ. अंशु सिंगला ने अपील करते हुए बताया कि एटीएम पिन हमेशा स्वयं अंकित करें एवं यह सुनिश्चित करें कि कोई इसे देख नहीं सके, अपने बैंक खाते से सम्बंधित जानकारी किसी को न दें, एटीएम पिन को हमेशा बदलते रहें एवं ऐसा पिन ना रखे जो आसानी से अनुमान लगाया जा सके, यह सुनिश्चित कर लें कि बैंकिंग लेन-देन से संबंधित विवरण आपको मैसेज के माध्यम से भी प्राप्त हो, नेट बैंकिंग का प्रयोग करते समय सावधानी रखें।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।