102 वर्षीय महिला ने किया शरीरदान, रिसर्च करेंगे मेडिकल स्टूडेंट

  • प्रकाश इंस्टीट्यूट आयुर्वेद मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर झज्जर को किया शरीरदान

श्रीकरणपुर (सच कहूँ न्यूज)। डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां द्वारा लगाया गया दधीचि का पौधा आज वट वृक्ष गया है। हर दूसरे तीसरे दिन समाज के विभिन्न तबकों से दधीचि निकल कर सामने आ रहे हैं। भारत पाक सीमा पर बसे श्रीकरणपुर कस्बे के गांव मोडा में मंगलवार को पूज्य गुरु जी की शिक्षाओं का अनुसरण करते हुए 102 वर्षीय महिला ने चिकित्सा रिसर्च के लिए अपना शरीर दान कर दिया। शरीर दान की रस्म के दौरान डेरा सच्चा सौदा की ब्लॉक कमेटी के साथ-साथ ग्राम पंचायत के सदस्य व ग्रामीणों शहीद रिश्तेदार, मित्र संबंधी उपस्थित रहे। इस दौरान माता गुमनाम कौर अमर रहे, डेरा सच्चा सौदा की सोच पर पहरा देंगे ठोक के के नारों से वातावरण को गुंजायमान कर दिया। इस अवसर पर ब्लॉक कमेटी के हाकम सिंह, कुलवंत सिंह, दीवान सिंह, विनय सिंह व शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के सेवादार राजवीर हरविंदर, संदीप, लवली, महेंद्र, आदित्य, गुरविंदर सहित ब्लॉक की साध-संगत मौजूद रही।

पूज्य गुरु जी की पावन शिक्षा से प्रेरित होकर किया था शरीरदान का प्रण

15 मेंबर बिनु इन्सां ने बताया कि गांव 46 एफ मोडा निवासी माता गुमनाम कौर पत्नी गुरबचन सिंह उम्र 102 वर्ष ने अपने जीवन काल के दौरान ही डेरा सच्चा सौदा की पावन शिक्षाओं पर चलते हुए शरीर दान करने का प्रण कर रखा था। माता गुमनाम का अचानक निधन हो गया जिसके बाद परिजनों ने अपनी माता की इच्छा को ध्यान में रखते हुए चिकित्सा रिसर्च के लिए शरीर दान करने का फैसला किया और ब्लॉक कमेटी से संपर्क किया। इसके बाद शरीर दान करने के लिए मेडिकल कॉलेज से संपर्क किया गया और देर शाम पूरे सम्मान सहित प्रकाश इंस्टीट्यूट आयुर्वेद मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर झज्जर को शरीर दान कर दिया गया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here